राजस्थान में इस बार पंचायत चुनाव मतदान दल कर्मियों से लेकर प्रत्याशियों के लिए होगा राहत वाला चुनाव
September 12th, 2020 | Post by :- | 62 Views

भरतपुर।( शौकत अली )

राजस्थान में इस बार पंचायत चुनाव मतदान दल कर्मियों से लेकर प्रत्याशियों के लिए होगा राहत वाला चुनाव। सरपंच और वार्ड पंच प्रत्याशी एक रात की जगह सात दिन कर सकेंगे प्रचार-प्रसार। सरपंच का ईवीएम और पंच का मतपत्र से होगा निर्वाचन। चुनाव में कोरोना संक्रमण को देखते हुए किए गए हैं कई बदलाव। मतदान दल के कर्मचारियों की रात अब नहीं होगी काली। सरपंच का चुनाव ईवीएम और वार्डपंच का चुनाव होगा मतपत्र से। चुनाव प्रक्रिया में भी इस बार किए गए हैं कई बड़े बदलाव। पहले जहां एक साथ मतदान दल को किया जाता था रवाना लेकिन इस बार प्रथम चरण के तय कार्यक्रम के अनुसार मतदान से सात दिन पहले आरओ और सहायक आरओ की दो सदस्यीय टीम जाएगी सम्बंधित ग्राम पंचायतों में। प्रत्याशियों से नामांकन-पत्र प्राप्त करने के दूसरे दिन नामांकन-पत्रों की जांच के साथ ही होगी नाम वापसी। इसके बाद उम्मीदवारों को किया जाएगा चुनाव चिन्ह का आवंटन। यह प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद आरओ और सहायक आरओ की दो सदस्यीय टीम वापस मुख्यालय लौटेगी। इसके आधार पर सरपंच के लिए तैयार की जाएगी ईवीएम और वार्ड पंच के लिए मतपत्र को जाएगा छपवाया। इस बार सरपंच और वार्ड पंच प्रत्याशियों को एक रात की जगह सात दिन का प्रचार-प्रसार करने का मिलेगा समय तो वहीं पोलिंग पार्टियों को मतदान संबंधी प्रकिया करने के लिए भी एक सप्ताह का मिलेगा पूरा समय। कोरोना काल में भीड़ ज्यादा इकट्ठा नहीं हो इसके लिए मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या को 1100 से घटाकर 900 किया गया है। मतदान केंद्रों की संख्या में भी इजाफा। मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ाकर सुबह 7.30 से रखा गया है शाम 5.30 बजे तक। सरपंच पद के मतों की गिनती में भी लगेगा 15-20 मिनट का ही समय।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।