पीपली में किसानों पर करवाए गए लाठीचार्ज की अखिल  भारतीय किसान सभा जिला कमेटी ने की कड़े शब्दों में निंदा|
September 11th, 2020 | Post by :- | 78 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 11 सितंबर :- अखिल  भारतीय किसान सभा जिला कमेटी पलवल ने हरियाणा सरकार द्वारा पीपली में किसानों पर करवाए गए लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की है क्योंकि देश के हर नागरिक को सरकार द्वारा जनविरोधी नीतियों को लागू करने पर जन तांत्रिक तरीके से विरोध व आंदोलन करना संवैधानिक अधिकार है।

जिला प्रधान धरमचंद व सचिव रूपराम तेवतिया ने कहा कि कृषि उपज,व्यापार तथा वाणिज्य अध्यादेश 2020 के द्वारा फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म करके किसानों को बड़े व्यापारियों द्वारा तय की गई कीमतों के हवाले कर दिया जाएगा। किसानों का सशक्तिकरण तथा संरक्षण अध्यादेश के जरिए किसानों के हितों की रक्षा करने वाली जो पावंदिया निजी व्यापार में बाधाएं पैदा करती हैं मार्केट कमेटियों से हटा दी जाएंगी और आवश्यक वस्तु अधिनियम  में संशोधन करके व्यापार में निजी खिलाड़ियों के लिए व्यापार तथा भंडारण का रास्ता साफ हो जाएगा जिसके चलते खाद सुरक्षा व राशन वितरण प्रणाली का खात्मा निश्चित है ।

इससे भी आगे बढ़कर आदर्श ठेका कृषि अध्यादेश के तहत किसानों को ठेकेदारों व कॉरपोरेट्स कंपनियों द्वारा गुलामों जैसी जिंदगी जीने पर मजबूर कर दिया जाएगा । अगर किसान व ठेकेदार में कोई विवाद खड़ा होता है तो कोई भी सिविल कोर्ट किसान का पक्ष सुनने के लिए तैयार नहीं होगी| अतः इन तीनों अध्यादेशों के लागू होने पर हर किसान यूनियन ,मजदूर यूनियन  व छोटा व्यापारी यूनियन का आंदोलन पर आना स्वाभाविक है इसलिए अखिल भारतीय किसान सभा पलवल यह मांग करती है कि कृषि संबंधित तीनों अध्यादेशों को तुरंत प्रभाव से वापिस लिया जाए तथा किसानों की हर जीन्स को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।