शहीद भूपेंद्र सिंह चौहान का आज गांव बास में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया
September 9th, 2020 | Post by :- | 54 Views

भिवानी(हुसैन)गांव बास में आज सुबह करीब 11 बजे युवाओं के काफिले के साथ वीर सिपाही शहीद भूपेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर पहुंचा। शहीद के पार्थिव शरीर के आते ही समूचे गांव में एक बार तो शोक की लहर दौड़ गई। जब तक सूरज चांद रहेगा-भूपेंद्र तेरा नाम रहेगा, भारत माता की जय, भूपेंद सिंह अमर रहे आदि नारों से आकाश गुंजायमान हो उठा। मीडियम 327 आर पी रेजीमेंट का गनर भूपेंद्र एक जांबाज सिपाही था। पांच सितंबर शनिवार को कश्मीर के हरदूल सैञ्चटर में सीमा पार से पाक सेना ने अचानक हमला बोल दिया था। दुश्मन सेना को भारत की ओर से भी करारा जवाब दिया गया। इस लड़ाई में मोटार्र व तोप के गोलों से हुए विस्फोट में 23 वर्षीय भूपेंद्र सिंह ने अपनी जान दे दी थी।
भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र के सांसद धर्मबीर सिंह, दादरी के विधायक एवं हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन सोमबीर सांगवान, पूर्व मंत्री सतपाल सांगवान, पूर्व विधायक राजदीप फौगाट, उपायुञ्चत शिवप्रसाद शर्मा एवं पुलिस अधीक्षक बलवान ङ्क्षसह राणा, भाजपा जिलाध्यक्ष सतेंद्र परमार, पूर्व जिलाध्यक्ष रामकिशन शर्मा ने पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद भूपेंद्र सिंह को श्रद्घासुमन अर्पित किए। सेना की ओर से मेजर जार्ज फर्नाडिंज प्रिंस ने शहीद को श्रद्घांजलि दी। पुलिस व थल सेना के सिपाहियों ने बिगुल बजाकर तथा हवाई फायर कर शहीद को नमन किया।
गांव रानीला बास के किसान मलखान सिंह के दो पुत्रों में ज्येष्ठï भूपेंद्र सिंह 26 दिसंबर 2015 को भारतीय सेना में भर्ती हुआ था। उसका जन्म तीन मार्च 1997 को हुआ था। भूपेंद्र ने गांव के ही स्कूल से दस जमा दो कक्षा तक पढाई की। उसका एक ही सपना था कि वह सेना में भर्ती होकर अपने देश की सेवा करे। करीब डेढ़ साल पहले भूपेंद्र का विवाह गांव झिंझर निवासी रेखा से हुआ था। भूपेंद्र और रेखा का एक बेटा है, जिसका उन्होंने प्यार से नाम पूर्व रखा हुआ है। सात माह के सुपुत्र पूर्व के ही हाथ से पिता की चिता को मुखाग्नि दिलवाई गई।
ग्रामवासियों ने बताया कि भूपेंद्र काफी होनहार युवक था और वह छ: माह पहले गांव में छुट्टïी आया हुआ था। गांव में उसके जाने का सभी को दु:ख है। उन्होंने बताया कि बड़े भाई की राह पर चलते हुए भूपेंद्र का छोटा भाई दीपक भी सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहा है। इस अवसर पर तहसीलदार अजय सैनी, उपपुलिस अधीक्षक बलीसिंह, अजीत फौगाट, महेंद्र सिंह, कुंदन शर्मा सहित पूर्व सैनिक व सेना अधिकारी, सरपंच, कस्बा बौंद, रानीला, अचीना, सांवड़, हिंडोल आदि गांवों के मौजिज व्यञ्चित उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।