रोगी कल्याण समिति के निर्णयों को सिरे चढ़ाना सुनिश्चित करें अधिकारी- चेत सिंह
September 8th, 2020 | Post by :- | 270 Views

आनी:-(दिलाराम भारद्वाज ब्यूरो ) रोगी कल्याण समिति की बैठक के निर्णयों को अधिकारी सिरे चढ़ाना सुनिश्चित करें ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सकें। एसडीएम आनी चेत सिंह ने नागरिक चिकित्साल्य आनी और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दलाश की रोगी कल्याण समिति की बैठक में ये बात कही। उन्होंने अधिकारियों को अस्पतालों में पेश आ रही दिक्कतों को दूर करने के निर्देश दिए और बैठक में प्रस्तावित योजनाओं और प्रस्तावों को शीध्र सिरे चढ़ाने के लिए भी दिशा निर्देश जारी किए। बैठक के दौरान बजट को प्रभावी तरीके से खर्च करने का भी अधिकारियों से आग्रह किया।

बैठक के दौरान बीते वर्ष के रोगी कल्याण समिति के बजट और आय को भी स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अलावा वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भी आय और खर्च के ब्यौरे को स्वीकृति दी गई। इसके तहत नागरिक चिकित्सालय आनी में बीते बजट में प्रस्तावित खर्च में से 8 लाख 25 हजार रुपए रोगी कल्याण समिति के तहत खर्च किया गया। वहीं 10 लाख 8 हजार रुपए की आय हुई। इसी तरह वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 14.88 लाख रुपए अनुमानित खर्च और 10 लाख 49 हजार रुपए अनुमानित आय पेश की गई। बजट राशि अस्पताल के विभिन्न विकासात्मक कार्यों और कार्यालय खर्च पर व्यय की जाएगी।
इसी तरह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दलाश में बीते वित्त वर्ष में 3 लाख 91 हजार रुपए की आय हुई और 2 लाख 86 हजार रुपए खर्च हुए। वहीं चालू वित्त वर्ष के लिए 3 लाख 57 हजार रुपए बजट खर्च होने का अनुमान लगाया गया है। 3 लाख 20 हजार रुपए की विभिन्न स्त्रोतों से आय होने का भी अनुमान लगाया गया है। बैठक की अध्यक्षता एसडीएम आनी चेत सिंह ने की। उनके अलावा बैठक में बीडीओ आनी जीसी पाठक, बीएमओ ज्ञान ठाकुर, तहसीलदार आनी दिलीप शर्मा, सीडीपीओ आनी विपाशा भाटिया, तहसील कल्याण अधिकारी देवेंद्र, सीनियर मेडिकल ऑफिसर भागवत प्रकाश मेहता, मेडिकल ऑफिसर दलाश डॉ. मुरारी, एसडीओ पीडब्ल्यूडी किशोरी लाल सुमन, एसडीएएमओ डॉ. राजेंद्र कुमार, व्यापार मंडल आनी से विनोद चंदेल, नामित सदस्य रतन भारती सहित अन्य अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।