आई कार्ड पर नहीं होती लोकल लोगों की एंट्री तो होगा धरना प्रदर्शन : राम कुमार
September 8th, 2020 | Post by :- | 53 Views

– सरकार व प्रशासन की मनमानी के चलते बार्डर पर बसे लोग हैं परेशान

– मैं जनता की परेशानी नहीं देख सकता, नहीं होती एंट्री तो बैठूंगा अनशन पर : चौधरी

बद्दी ! 21 मार्च को पूरे भारत वर्ष में केंद्र सरकार के आहवान पर लॉकडाऊन हुआ और लगभग 2 महीने के बाद सरकार ने एरिया वाईज लॉकडाऊन खुला। सरकार कई दिनों से आहवान कर रही है कि अब पूरा भारत वर्ष अनलॉक हो गया है लेकिन हिमाचल सरकार अपनी मनमानी पर उतारू है। जिसके चलते बीबीएन के बार्डर पर बसे लोग बुरी तरह से परेशान हैं। सरकार व प्रशासन से आहवान भी किया गया कि आई कार्ड के आधार पर बार्डर के लोगों को बैरियरों पर एंट्री दी जाए लेकिन सरकार व प्रशासन ने जनता की नहीं सुनी। अगर अब सरकार बैरियरों पर लोकल लोगों को आई कार्ड पर एंट्री नहीं देती तो जल्द ही बरोटीवाला बैरियर पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा, फिर भी सरकार नहीं सुनती तो एसडीएम कार्यालय नालागढ़ के समक्ष क्रमिक अनशन किया जाएगा। यह बात प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एंव दून के पूर्व विधायक राम कुमार चौधरी ने बद्दी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही। राम कुमार चौधरी ने कहा कि वह बीबीएन के बार्डर पर बसे लोगों को परेशान नहीं देख सकते। पूरे भारतवर्ष में अनलॉक होने के बाद भी हिमाचल सरकर और प्रशासन ने बीबीएन के बार्डर सील कर रखे हैं। जिससे बार्डर पर रहने वाले लोगों को रोजाना परेशानियों से दो चार होना पड़ा रहा है। राम कुमार चौधरी ने कहा कि अब लोगों के सब्र का बांध टूट चुका है। लॉकडाऊन ने जहां रोजगार खत्म कर दिया वहीं रोजाना लोगों को कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। बीमारी की स्थिति में भी लोगों को बार्डर पर रोक दिया जाता है और ऑनलाईन ई-पास भी सिर्फ सिफारिशों पर बन रहे हैं। ऐसे में बार्डर पर रहने वाले लोग कहां जाएं।
प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राम कुमार चौधरी ने सरकार व प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर बद्दी, बरोटीवाला, कालूझिंडा, रेहडू, दभोटा, ढेरोवाल बैरियर पर लोकल लोगों की आई कार्ड के आधार पर एंट्री नहीं होती तो बरोटीवाला बैरियर पर जनता की अगुवाई में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। अगर सरकार और प्रशासन ने प्रदर्शन के बाद भी अपना अडिय़ल रवैया नहीं बदला तो एसडीएम नालागढ़ के कार्यालय के बाहर क्रमिक अनशन किया जाएगा और एसपी तथा एसडीएम के माध्यम से सरकार को ज्ञापन दिया जाएगा। चौधरी ने कहा कि सरकार की गल्त नीतियों के कारण बार्डर पर बसे लोग परेशान हैं और वह किसी भी कीमत पर बीबीएन की जनता को परेशान नहीं देख सकते। उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा विधायक भी बार्डर पर बसे लोगों की आवाज सरकार और प्रशासन तक पहुंचाने में नाकाम रहे हैं। पता नहीं विधायक किस मिट्टी के बने हैं जो उन्हें बार्डर पर बसे लोगों और स्थानीय जनता की समस्या दिखाई नहीं देती। इस मौके पर राम कुमार चौधरी के साथ यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।