रंगदारी देकर गोली मरवाकर घायल करने के मामले मे तीन आरोपी गिरफतार |
September 12th, 2019 | Post by :- | 116 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- पुलिस अधीक्षक पलवल के आदेश पर अपराधियो की धरपकड के लिये चलायें जा रहे अभियान के तहत थाना चान्दहट पुलिस ने एक व्यक्ति को गोली मारने के मामले मे तीन आरोपियो को गिरफतार किया है।

प्रबन्धक थाना चान्दहट ने वीरवार प्रैस वार्ता को सम्बोधित करते हुए बतलाया कि दिनांक 27.06.19 को इन्द्राज निवासी मोहना ने पुलिस को सूचना दी कि दिनांक 26.06.19 को वह अपनी प्रिंटिंग प्रैस का सामान खरीदकर अपने गांव मोहना जा रहा था। जब वह गांव डाडौता के पास पहुंचा तो दो नकापोश मोटर साईकिल चालको ने उसकी स्कूटी के साथ अपनी मोटर साईकिल लगाकर बाईक पर पीछें बैंठे व्यक्ति ने उसकी छाती मे गोली मार दी। जिस पर थाना चान्दहट पुलिस ने केस दर्ज करके आरोपीयो की तलाश शुरू कर दी।

इस मामले मे मुदई के शक पर दिनांक 11.09.19 को मांगेराम निवासी मोहना को शामिल तफतीश करके पुछताछ की। जिसने पुछताछ के दौरान अपने अपराध को स्वीकार किया और बतलाया कि पिडित इन्द्राज का उसके छोटे भाई मुकेश के साथ जमीन का विवाद है। जिसने अपने भाई की हत्या की 4,50,000 रूप्यें की सुपारी उसे दी थी। जो मांगेराम ने मुकेश निवासी जलहाका व कमल निवासी हरफला को इस काम को करने के लिये 1,50,000 प्रति व्यक्ति देकर इन्द्राज को मारने के लिये कहा। योजना के अनुसार उन्होने (मुकेश व कमल) ने दिनांक 26.06.19 को इन्द्राज को गोली मार दी। जिसमे वह घायल हो गया।

आरोपी मांगेराम को दिनांक 11.09.19 को मुकदमा मे गिरफतार कर लिया गया। आरोपी मुकेष को गांव मोहना से गिरफतार कर लिया गया। साथी आरोपी कमल को भी दिनांक 11.09.19 को ही बल्लबगढ, फरीदाबाद से गिरफतार कर लिया गया। आरोपीयो को आज पेश अदालत करके वारदात मे प्रयोग किये गये, मोबाईल फोन व रंगदारी के पैसे बरामद करने के लिये दो दिन का पुलिस रिमान्ड लिया गया। बकाया आरोपी मुकेश निवासी जलहाका थाना शहर बल्लबगढ मे अपनी घरवाली पर अवैध अस्ला से जान से मारने की धमकी देनें बारें मे बन्द जेल नीमका है। जिसका प्रोडक्शन वारन्ट दिनांक 13.09.19 के लिये जारी कराया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।