डेराबस्सी के भिंडरावाला समर्थक ने दी थी शांडिल्य को गोली मारने की धमकी,पुलिस ने किया मामला दर्ज।
September 6th, 2020 | Post by :- | 124 Views

अम्बाला(अशोक शर्मा)
शांडिल्य बोले: खून के अंतिम कतरे तक जारी रहेगी आतंकवाद व खालिस्तान के खिलाफ लड़ाई , गीददभभकियों से डरने वाले नही
एन्टी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं श्री हिन्दू तख्त के राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य को मौत के घाट उतारने की धमकी देने के मामले में अम्बाला पुलिस ने भारतीय दंड सहिंता की धारा 504 व 506 के तहत पांचवा मामला अम्बाला शहर थाना में दर्ज किया है । बता दें पंजाब के डेराबस्सी के रहने वाले भिंडरावाला समर्थक ने वीरेश शांडिल्य को गोली मारकर मौत के घाट उतारने की व भिंडरावाला के खिलाफ बोलने पर व शहीद बेअंत सिंह के हक में बोलने पर सबक सिखाने की धमकी दी और व अभद्र शब्दों का भी प्रयोग किया था । यह धमकी भिंडरावाला समर्थक ने शांडिल्य को वॉइस मेसेज व व्हाट्सएप कॉल पर दिये जो तमाम वॉइस मेसेज व जानकारी शांडिल्य ने अम्बाला में आईजी व एसपी को सौंपी थी । इस मामले में अम्बाला शहर थाना के एसएचओ राम कुमार ने कहा शांडिल्य द्वारा दी शिकायत के बाद बाद सख्त संज्ञान लेते हुए पुलिस ने मामला नम्बर 717 दर्ज किया है व आरोपी भिंडरावाला समर्थक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा कार्यवाही अमल में लाई जा रही है और जल्द पुलिस डेराबस्सी निवासी आरोपी को गिरफ्तार कर लेगी ।
एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने कहा कि वह अक्सर चंडीगढ़ जाते रहते है व डेराबस्सी से गुजरते है व डेराबस्सी में भी कई धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों में भी शामिल होते रहते है । इससे पहले भी शांडिल्य को पंजाब के मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की तरह मौत के घाट उतारने की धमकी मिली थी जिसपर अम्बाला पुलिस ने मामला दर्ज किया था । शांडिल्य ने कहा ऐसे भिंडरावाला समर्थकों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और इनके तार किससे जुड़े है उसकी जांच कर सभी भिंडरावाला व खालिस्तानी समर्थकों को सलाखों के पीछे भेजना चाहिए । वही श्री हिन्दू तख्त राष्ट्रीय प्रचारक शांडिल्य ने कहा खून के अंतिम कतरे तक उनकी आतंकवाद व खालिस्तान के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी और खालिस्तानी एक बात समझ लें कि वह इन गीददभभकियों से डरने वाले नही हैं व सदैव भारत माता की सेवा में लगे रहेंगे और देश की एकता और अखंडता को कभी खण्डित नही होने देंगे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।