केन्द्र सरकार द्वारा गेमिंग एप पबजी के साथ ही 118 एप्स पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय सराहनीय–नन्द सिंगला
September 4th, 2020 | Post by :- | 63 Views

चीन के खिलाफ सरकार की डिजीटल स्ट्राइक  के कदम की लोगों ने की जमकर सराहना

रायपुररानी, लोकहित एक्सप्रैस (अंकित)

केन्द्र सरकार द्वारा गेमिंग एप पबजी के साथ ही 118 एप्स पर प्रतिबंध लगाने का लोगों ने स्वागत करते हुए सरकार के इस कदम की सराहना की है। रायपुररानी के युवा नेता कपिल अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार द्वारा देश एवं जनहित में लगातार साहासिक एवं सराहनीय निर्णय लिये जा रहे है। उन्होने कहा कि गत दिवस सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने विभिन्न खतरों की उभरती प्रकृति को देखते हुए चीन से जुड़े 118 ऐप्स को ब्लॉक करने का निर्णय लिया गया है, क्योंकि उपलब्ध जानकारी के अनुसार ये उन गतिविधियों में शामिल हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए नुकसानदेह हैं।

रायपुररानी के पूर्व ग्राम पंचायत सदस्य अशवनी सिंगला, युवा सचिन आहुजा ने कहा कि चीन के खिलाफ सरकार ने डिजीटल स्ट्राइक करके यह साफ कर दिया है कि देश हित में सरकार कड़े से कड़े कदम उठाने में पीछे नहीं हटेगी। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की वर्तमान में चीन के साथ परिस्थतियां है ऐसे माहौल में यह आवश्यक भी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण स्कूल कालेज बंद है और बच्चे घरों में ही समय व्यतीत कर रहे है, अधिकत्तर बच्चें/युवा पब्जी आदि गेम खेलने में ही व्यस्त रहते थे जिस कारण अभिभावक भी टेंशन में रहते थे , इन एप्स पर प्रतिबंध लगने से अभिभावक भी टेंशन फ्री हुए है। भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा और राज्य की सुरक्षा के हित को ध्यान में रखते हुए और संप्रभु शक्तियों का उपयोग करते हुए, भारत सरकार ने मोबाइल और गैर-मोबाइल इंटरनेट सक्षम उपकरणों दोनों में उपयोग किए जाने वाले कुछ ऐप्स के उपयोग को अवरुद्ध करने का फैसला करके एक साहसिक निर्णय लिया है। यह कदम करोड़ों भारतीय मोबाइल और इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के हितों की रक्षा करेगा। यह निर्णय भारतीय साइबरस्पेस की सुरक्षा एवं संप्रभुता सुनिश्चित करने के लिए एक लक्षित कदम है।

रायपुररानी वैश्य अग्रवाल सभा के प्रधान नन्द सिंगला व सचिन गुप्ता  ने कहा कि जिन एप्स पर सरकार द्वारा सुरक्षा व अन्य कारणों को देखते हुए प्रतिबंध लगाया गया है यह सरकार का स्वागत योग्य कदम है। उन्होंने कहा कि बच्चें और युवा भी इन एप्स के भ्रम जाल से प्रभावित होकर अपना समय इन एप्स पर गेम खेलने में बिता रहे थे जो भी एक चिंतनीय विषय था।

उल्लेखनीय है कि सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय को विभिन्न स्रोतों से कई प्रकार की शिकायतें प्राप्त हुई कि एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कई मोबाइल ऐप उनके डाटा का दुरुपयोग कर रहे हैं, इनमें विभिन्न प्रकार की रिपोर्टें भी शामिल हैं। उनका दुरुपयोग चोरी करने के लिए और उपयोगकर्ताओं के डेटा को अनधिकृत तरीके से उन सर्वरों पर प्रसारित करने के लिए किया जा रहा है जो भारत के बाहर स्थित हैं। इन आंकड़ों का संकलन और इनकी माइनिंग एवं प्रोफाइलिंग उन तत्वों द्वारा किया जा रहा है जो राष्ट्रीय सुरक्षा और भारत की रक्षा के लिए खतरनाक हैं। इस प्रकार से, उसका प्रभाव अंतत: भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए नुकसानदेह है। जिस कारण इन एप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।