आयुर्वेदिक औषधियों के महत्व को बैनरो के माध्यम से सारे गांव तक संदेश पहुॅंचाया-डॉ सतपाल जिला आयुर्वेदिक अधिकारी
September 12th, 2019 | Post by :- | 69 Views

अम्बाला: (अशोक शर्मा)

उपायुक्त अशोक कुमार के दिशा निर्देशानुसार डॉ0 सतपाल जिला आयुर्वेदिक अधिकारी के मार्गदर्शन में आयुष हैल्थ और वेलनेस सैन्टर बाड़ा में डेंगू की रोकथाम व आयुर्वेदिक जीवन शैली पर एक जागरूकता शिविर लगाया गया। इसकी शुरूआत डॉ0 समिधा शर्मा, आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी ने मिडल स्कूल बाड़ा के बच्चो द्वारा एक रैली निकाल कर की। शिविर में तुलसी, गिलोय इत्यादि आयुर्वेदिक औषधियों का काढ़ा पिलाया गया। आयुर्वेदिक औषधियों के महत्व को बैनरो के माध्यम से सारे गांव तक संदेश पहुॅंचाया।
इसके बाद उन्होंने गांव की आंगनवाड़ी में ग्रामवासियों को तुलसी व गिलोय का काढ़ा बनाने की विधि सिखाई व सभी को काढ़ा पिलाया गया। सभी को जल्दी सोने व जल्दी प्रात: उठने व खाने के नियम बताकर स्वास्थय लाभ के टिप्स दिये गये। करीब 100 ग्रामवासियों ने इस चिकित्सा शिविर में भाग लिया। ग्राम सरंपच विकास ने आयुष विभाग की सराहना की व सभी को तुलसी गिलोय नीम आदि पौधे उगाने को प्रोत्साहित किया।
डॉ समीधा ने बाड़ा में जागरूकता रैली सम्बधी विषय पर जानकारी देते हुए कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य लोगों को बीमारियों से बचाव के बारे में जागरूक करना हैं। आयुर्वेद पद्घति किस प्रकार ईलाज में कारगर साबित हो रही हैं, इसकी जानकारी भी समय-समय पर आयोजित शिविरों में दी जाती हैं। पल्स पोलियों अभियान 15 सितम्बर को हैं। जिसमें 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की अतिरिक्त खुराक पिलाई जाएगी। उप सिविल सर्जन प्रतिरक्षण डॉ बेला शर्मा ने भी इस विषय को लेकर बताया कि अभियान को शत-प्रतिशत सफल बनाने के लिए जिला में 872 बूथों पर 2626 स्वास्थ्य कार्यकत्र्ता, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा सामाजिक कार्यकत्र्ता, नेहरू युवा कार्यकत्र्ता सहयोग कर रहे हैं। इसमें 0 से 5 वर्ष तक के 1,29,338 बच्चों को पोलियों की अतिरिक्त खुराक पिलाने का लक्ष्य रखा गया हैं। इस मौके पर एएनएम किरन, लाभ कौर, आशा, रीमा, पूनम, रोणा, उषा, अवनिन्दर, डिस्ंपेसर नीना शर्मा, सन्नी, स्कूल अघ्यापक अशोक व वर्षा उपस्थित रही।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।