खेल एवं युवा मामलों के मंत्री स. संदीप सिंह ने फुटबाल स्टेडियम का किया औचक निरीक्षण।
September 1st, 2020 | Post by :- | 22 Views

अम्बाला :(अशोक शर्मा)
अम्बाला, 1 सितम्बर:- खेल एवं युवा मामलों के मंत्री स. संदीप सिंह ने मंगलवार वार हीरोज मैमोरियल स्टेडियम अम्बाला छावनी में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के सिन्थैटिक फुटबाल ट्रफ तथा एथलैटिक्स, आल वैदर स्वीमिंग पुल, जिम्नास्टिक हाल व खेल छात्रावास के निर्माण कार्य का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्टेडियम में खिलाडिय़ों के लिए उपलब्ध सुविधाओं का जायजा लिया। खेल मंत्री ने कहा कि खेलो इंडिया 2021 के सफल आयोजन के लिए लगातार स्टेडियमों की चेकिंग का काम अब पूरे जोर से शुरू हो चुका है। इसलिए खेल विभाग के सभी अधिकारी व कर्मचारी अपने काम को गंभीरता के साथ लें। इस दौरान स्टेडियम में जो भी खामियां पाई गई। उन्हें दूर करने के निर्देश खेल मंत्री द्वारा अधिकारियों को दिए गए। मंत्री ने स्टेडियम में चल रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण कर उसकी गुणवत्ता की भी जांच की।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू के मार्गदर्शन एवं सहयोग से हरियाणा को दिए गए खेलो इंडिया 2021 के सफल आयोजन को लेकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। पिछली बार असम के गुवाहाटी में आयोजित किए गए खेलो इंडिया के दौरान उन्होंने खुद वहां का दौरा करके परिस्थितियों का जायजा लिया था। ताकि हरियाणा में होने वाले आयोजन को लेकर सही तरीके से तैयारी की जा सके। उन्होंने कहा कि ट्राइसिटी चंडीगढ़ के आसपास मोहाली व पंचकूला में भी खिलाडय़िों के ठहरने की भरपूर व्यवस्था की जा सकती है। देशभर के खिलाड़ी खेलो इंडिया 2021 में भाग लेने के लिए पंचकूला के लिए पहुंचेंगे। प्रयास है कि इस दौरान ने किसी भी तरह की असुविधा ना हो। खिलाडिय़ों को टिप्स देते हुए खेल मंत्री ने कहा कि खिलाडिय़ों को इस समय सचेत रहते हुए अपनी प्रेक्टिस निरन्तर जारी रखनी चाहिए। कोरोना ने खेलों की रफ्तार को कम जरूर किया है। लेकिन खिलाडिय़ों का मनोबल चट्टान की तरह मजबूत है। उन्होंने कहा कि नए बड़े स्टेडियम बनाने की बजाय ग्रामीण स्तर पर छोटे खेल परिसर तैयार किए जाएंगे। जिन पर लागत भी कम आएगी और ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र के खिलाडिय़ों को फायदा मिलेगा।
खेल मंत्री ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का प्रयास है कि हरियाणा के खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना कर देश का नाम रोशन करें। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयास से खेल नीति को और अधिक सुदृढ़ बनाने का प्रयास निरंतर जारी है। जिसके परिणाम स्वरूप हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा दिए गए पुरस्कारों में अधिकतर खिलाड़ी हरियाणा के ही पुरस्कार विजेता बने। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि ग्रामीण क्षेत्र पर खेलों में करियर बनाने की क्षमता रखने वाले युवाओं को उनके घर द्वार पर ही बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करा कर खेलों के प्रति मोटिवेट किया जाए। सरकार का प्रयास है कि ग्रामीण क्षेत्र से बेटियां खेलों में अधिक से अधिक संख्या में सामने आए। इसके लिए अभिभावकों का सहयोग बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द खेलों में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। खेल मंत्री ने कहा कि उनका प्रयास है कि सुविधाओं के अभाव में कोई प्रतिभा अपना मुकाम हासिल करने से पीछे ना रहे।
इस मौके पर जिला खेल अधिकारी एन सत्यन, कु संतोष धीमान, हैंड बाल प्रशिक्षक रेखा सरीन, वाईसीओ राम स्वरूप, तैराकी प्रशिक्षक सतपाल, जिम्नास्टिक प्रशिक्षक सुखविन्द्र, हॉकी प्रशिक्षक विकाम, फैन्सिंग प्रशिक्षक सुभम नारंग, स्केंटिग प्रशिक्षक संजय के साथ-साथ कार्यालय स्टाफ मौजूद रहा। शर्मा)

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।