ई रिक्शा चोरी करने वाले दो अभियुक्तो को मय ई रिक्शा के थाना वृन्दावन पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार
August 30th, 2020 | Post by :- | 112 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता)ई रिक्शा चोरी करने वाले दो अभियुक्तो को मय ई रिक्शा के थाना वृन्दावन पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार |. प्रभारी निरीक्षक वृन्दावन के निकट पर्यवेक्षण में वांछित अभियुक्तो की गिरफ्तारी व चोरी गये माल की बरामदगी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में दिनांक 28.08.2020 को वादी श्री बाँबी पुत्र श्री बृजलाल नि0 राधिका विहार कालोनी रोहतक वाली धर्मशाला थाना वृंदावन जिला मथुरा द्वारा पंजीकृत कराये गये मु0अ0सं0 517/2020 धारा 379 भादवि बनाम अज्ञात में प्रकाश में आये अभि0गण 1. दीनदयाल पुत्र चन्द्रवीर निवासी रोहतक वाली धर्मशाला के पास फोगला आश्रम के पीछे थाना वृंदावन मथुरा उम्र करीब 28 वर्ष ,2. रामबाबू पुत्र ठाकुर दास निवासी गाव धोरैरा थाना वृंदावन मथुरा उम्र करीब 26 वर्ष को रूकमणि विहार गोलचक्कर, केशवधाम, वृंदावन मथुरा के पास से मय चोरी के माल एक ई रिक्शा रंग लाल के साथ गिरफ्तार किया गया । बरामदगी माल के आधार मु0अ0सं0 517/2020 में धारा 411भादवि की वृद्धि की गई । गिरफ्तारशुदा अभि0गण को जेल भेजा जा रहा है ।

गिरफ्तार शुदा अभि0गण-
1. दीनदयाल पुत्र चन्द्रवीर निवासी रोहतक वाली धर्मशाला के पास फोगला आश्रम के पीछे थाना वृंदावन जिला मथुरा ।
2. रामबाबू पुत्र ठाकुर दास निवासी गाव धोरैरा थाना वृंदावन जिला मथुरा।

आपराधिक इतिहास अभि0 रामबाबू उपरोक्त–
1.मु0अ0सं0 517/2020 धारा 379/411भादवि थाना वृन्दावन मथुरा
2.मु0अ0सं0 970/2015 धारा 379/411भादवि थाना वृन्दावन मथुरा
3.मु0अ0सं0 731/2018 धारा 379/411भादवि थाना वृन्दावन मथुरा

आपराधिक इतिहास अभि0 दीनदयाल उपरोक्त–
1.मु0अ0सं0 517/2020 धारा 379/411भादवि थाना वृन्दावन मथुरा

बरामदगी विवरणः-
1.एक ई रिक्शा नम्बर UP 85 BT 0428 रंग लाल ।

गिरफ्तार करने वाली टीम–
1.प्र0नि0 श्री अवधेश प्रताप सिंह थाना वृन्दावन मथुरा
2.चौकी प्रभारी रमणरेती उ0नि0 श्री ललित कुमार शर्मा थाना वृन्दावन मथुरा।
3. उ0नि0 श्री सोनू भाटी थाना वृन्दावन मथुरा
4. है0का0 153 सुरेन्द्र कुमार, का0 848 राजीव सिहं, हो0गा0 739 दयाचन्द थाना वृन्दावन मथुरा ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।