वृंदावन की अगले हफ्ते रात्रि परिक्रमा कर श्रद्धालुओं की सुविधाओं का करेंगे निरीक्षण: पं श्रीकान्त शर्मा
August 29th, 2020 | Post by :- | 171 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता) उत्तर प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पं. श्रीकान्त शर्मा ने शुक्रवार व शनिवार को मथुरा-वृन्दावन के वृन्दावन, मधुवन, धौली प्याऊ, कृष्णा नगर, यमुनापार और होली गेट मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और पार्षदों से आमजन से जुड़ी समस्याएं व सुझाव जाने। ऊर्जा मंत्री ने इस वर्चुअल मीटिंग में मथुरा-वृन्दावन के प्रस्तावित विकास योजनाओं की जानकारी दी। समस्याओं पर संबंधित अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही के आदेश दिये।

स्वच्छ भारत रैंकिंग में मथुरा-वृंदावन नगर निगम लगातार बेहतर हो रहा है, ऊर्जा मंत्री ने इसे जनसहयोग से अग्रणी बनाने के निर्देश दिये। बिजली, सड़क, पानी, नालों की समस्याओं के दीर्घकालिक समाधान और वरिष्ठ अधिकारियों को खुद मौके पर जाकर लगातार निरीक्षण व निगरानी के आदेश दिये।

मथुरा-वृन्दावन में पिछले दो माह में 94 करोड़ 76 लाख रुपये से अधिक के विकास कार्यों की सौगात जनता को मिली है।

मथुरा-वृन्दावन को दिसम्बर 2019 से 25 MLD गंगा जल मिलना शुरू हुआ। इससे अब मथुरा-वृंदावन के कई परिवारों को पेयजल आपूर्ति हो रही है। पुराने मथुरा में भी गंगाजल आपूर्ति की कार्ययोजना तैयार हो गई है।

ऊंचे इलाकों और घरों में दरार आने की समस्या पर संज्ञान लेते हुए ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अंडरग्राउंड पानी की लाइन की बजाय ऐसे एरिया में ओपन लाइन से आपूर्ति की जाये व लीकेज की समस्या का त्वरित समाधान हो।

वृंदावन की 45 गलियों के विकास व सौंदर्यीकरण का कार्य होगा।वृंदावन की 22 कुंज गलियों के विकास और सौंदर्यीकरण का कार्य चल रहा है। इसमें 23 अन्य गलियां शामिल की गई हैं।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विश्व बैंक की प्रो पुअर पर्यटन योजना के तहत 22 गलियों में 38 करोड़ रुपये की लागत से चल रहा प्रमुख गलियों का कार्य मंदिर खुलने के पहले पूरा हो जाएगा।

वृन्दावन परिक्रमा मार्ग पर श्रद्धालुओं की परिक्रमा के लिये स्वच्छता और कंकड़ पत्थर हटाने का काम किया जा रहा है। अगले हफ्ते वो अधिकारियों के साथ रात्रि परिक्रमा कर इसका निरीक्षण भी करेंगे।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में जिस तरह सौभाग्य योजना के तहत हर इच्छुक घर को बिजली मिली है उसी तरह वर्ष 2026 तक जल जीवन मिशन के तहत मथुरा जिले के हर घर में नल से पानी पहुंचाने की दिशा में काम हो रहा है।

मथुरा-वृंदावन में भी स्वच्छ गंगाजल आपूर्ति पर तेजी से कार्य चल रहा है। मथुरा-वृंदावन में पहले फेज में वर्ष 2021 तक 176 किमी गंगा जल आपूर्ति का पाइपलाइन नेटवर्क तैयार हो रहा है। कुल 950 किमी का पाइपलाइन नेटवर्क तैयार होना है।

प्रधानमंत्री जी के नदियों की निर्मलता के संकल्प की दिशा में यमुना में गिरने वाले 20 गंदे नालों को बंद किया जा रहा है। मसानी STP व ट्रांस यमुना TTRO प्लांट की 480 करोड़ की लागत से 50 MLD क्षमता बढ़ाई जा रही है। यह कार्य मार्च 2021 में पूरा हो जाएगा।

हाईवे से सटी 350 कॉलोनियों को जलभराव से मुक्ति के लिये जरूरी कार्य अगले 6 महीनों के अंदर पूरे होंगे। लक्ष्मी नगर से नगला कोल्हू और धौली प्याऊ से हनुमान मंदिर इन दोनों नालों का कार्य जल्द पूरा होगा। बिरजापुर से टैकमेन सिटी, पाली खेड़ा से नरसी विहार और एटीवी फैक्टरी से महौली चौराहे इन तीनों आरसीसी नालों का कार्य भी तेजी से होगा।

शहर में चल रहे सीवर लाइन के कार्य को भी इस साल दिसंबर तक पूरा किया जाना है। सीवर के कार्य के लिये जल निगम को जहां भी खुदाई करनी पड़ी है उसकी फिलिंग व सड़क की मरम्मत जल्द किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि कलेक्ट्रेट से टैंक चौराहा – भूतेश्वर- मसानी-कृष्णा नगर मार्केट तक सड़कों के नवीनीकरण और डिवाइडर के सौंदर्यीकरण के लिये 14 करोड़ रुपये की लागत से काम होगा। अगले हफ्ते से पीडब्ल्यूडी गड्ढे भरने का काम शुरू कर देगा। अगले माह से मथुरा-वृन्दावन मार्ग को फोर लेन और गोवर्धन चौक से गोवर्धन को फोर लेन बनाने का काम जल्द शुरू हो जाएगा।

ऊर्जा मंत्री ने वीसी में शामिल हुये सभी लोगों से प्रधानमंत्री जी की अपील दो गज की दूरी-मास्क पहनना है जरूरी का लगातार प्रसार करते रहने के लिये कहा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।