सरकार ने किसान की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए कृषि क्षेत्र में कई योजनाएं क्रियान्वित की है।
August 26th, 2020 | Post by :- | 131 Views
पंचकूला।(मनीषा) उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि सरकार ने प्रदेश के अन्नदाता किसान की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए कृषि क्षेत्र में कई योजनाएं क्रियान्वित की है। इनमें फसल विविधिकरण योजना किसानों के लिए बेहतर कारगर है।
उपायुक्त ने बताया कि वर्तमान में किसानों के लिए फसल विविधिकरण करना बेहद जरूरी है। जिला का किसान फसल विविधिकरण को अपनाएगा तभी किसान की आर्थिक स्थित मजबूत होगी। यदि किसान खुशहाल, आत्मनिर्भर और समृद्व होगा तो प्रदेश प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेगा।
उन्होंने बताया कि ऑनलाइन किसान-कृषि वैज्ञानिक संवाद के माध्यम से भी किसानों को समय समय फसल विविधिकरण की जानकारी दी जा रही है। इसका मुख्य उद्देश्य ही कृषि विविधिकरण और उन्नत तकनीकों के माध्यम से किसानों की आमदनी बढ़ाना है।
उपायुक्त ने बताया कि फसल विविधिकरण, कृषि व इससे जुड़े व्यवसाय, उन्नत किस्मों के बीज और आधुनिक तकनीक अपनाकर किसान अपनी आमदनी बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही, जैविक खेती, फसल अवशेष प्रबन्धन, समन्वित कीट एवं उर्वरक प्रबन्धन, जल संरक्षण, प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग कर खेती में होने वाले खर्च को कम करने के साथ-साथ किसान भूमि की उर्वरा शक्ति को भी बढ़ा भूमि को ओर अधिक उपजाऊ बना सकते हैं।
उपायुक्त ने बताया कि किसानों के लिए मार्केटिंग की भी पूरी जानकारी होनी चाहिए। किसान मार्केटिंग में निपुणता हासिल करके और किसान उत्पाद समूह गठित करके भी कृषि योजनाओ का लाभ उठा सकते हैं। इनके माध्यम से किसानों को सही समय पर आसानी से सरकार की योजनाओं का लाभ मिलता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।