गरीबों को बांटी जाने वाली 2 रुपये प्रति किलो वाली गेहूँ के बोरों पर वज़न बढ़ाने के लिए पानी स्प्रे करने की वीडियो हुई वायरल ।
August 25th, 2020 | Post by :- | 158 Views
2 रुपये किलो वाली  सरकारी गेहूं का वजन बढ़ाने  के लिए  गेहूँ के बोरों पर पानी स्प्रे करने की सोशल मीडिया पर हुई वायरल ,

फ़ूड सप्लाई विभाग का कोई भी अधिकारी बोलने को तैयार नही ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
आजकल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है ,जिस में एक बड़ा शेड जहाँ पर 2 रुपये किलो वाली सस्ती गेहूं की  30 किलो वजन वाली गेंहू की बोरी पर पानी की स्प्रे की जा रही है। इस वीडियो में यह साफ दिखाई दे रहा है कि कैसे गेंहू के सूखे बोरों पर पानी का स्प्रे कर वज़न बढ़ाया जा रहा है ।
बता दे कि फ़ूड सप्लाई विभाग घपले के मामले में हमेशा ही सुर्ख़ियो में रहा है ।क्योंकि सूत्रों के मुताबिक गरीबों को बांटी जाने वाली सस्ती गेहूँ  जिसमे एक बोरे में 30 किलो वजन होता है और इसमें प्रति बोरे से 2 से 3 किलो तक गेहूं निकाल ली जाती है ,जिसके चलते 30 किलो वाले बोरे का वज़न कम हो जाता है ।
इस वज़न को पूरा करने के लिए पानी डाला जाता है जिसके चलते गेंहू  के बोरे का वजन पूरा हो जाता है ।
यह भीगी गेंहू कई बार ज्यादा समय स्टोर में पड़ी रहने के चलते यह खराब और बदबूदार हो जाती है ।
जो फ़ूड सप्लाई विभाग अधिकारियों द्वारा डिपू होल्डरों को गरीबों को बांटने के लिए दी जाती है ।इस तरीके से खराब गेंहू गरीबों के घरों तक पहुंचती है ।एक तरफ जहां आज गरीब लोग क्रोना की मार झेल रहें है वही फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारियों के भृष्टाचार का शिकार भी हो रहें हैं ।
पत्रकार द्वारा इस मामले में स्पष्टीकरण लेने के लिए कई फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारियों को काल किये लेकिन किसी ने फो उठाकर इसका स्पष्टीकरण देना मुनासिब नहीं समझा कि आखिर इस भृष्टाचार के पीछे बड़ा चोर कौन है ?

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।