रक्तदान से बढ़कर कोई दान नहीं: आओ-30 अगस्त को हिंडौन में आयोजित रक्तदान शिविर में अधिकाधिक संख्या में भाग लेकर रक्तदान करें
August 23rd, 2020 | Post by :- | 60 Views
रक्तदान से बढ़कर कोई दान नहीं: आओ-30 अगस्त को हिंडौन में आयोजित रक्तदान शिविर में अधिकाधिक संख्या में भाग लेकर रक्तदान करें

Normal
0

false
false
false

EN-US
X-NONE
HI

MicrosoftInternetExplorer4

/* Style Definitions */
table.MsoNormalTable
{mso-style-name:”Table Normal”;
mso-tstyle-rowband-size:0;
mso-tstyle-colband-size:0;
mso-style-noshow:yes;
mso-style-priority:99;
mso-style-qformat:yes;
mso-style-parent:””;
mso-padding-alt:0in 5.4pt 0in 5.4pt;
mso-para-margin:0in;
mso-para-margin-bottom:.0001pt;
mso-pagination:widow-orphan;
font-size:11.0pt;
mso-bidi-font-size:10.0pt;
font-family:”Calibri”,”sans-serif”;
mso-ascii-font-family:Calibri;
mso-ascii-theme-font:minor-latin;
mso-fareast-font-family:”Times New Roman”;
mso-fareast-theme-font:minor-fareast;
mso-hansi-font-family:Calibri;
mso-hansi-theme-font:minor-latin;
mso-bidi-font-family:Mangal;
mso-bidi-theme-font:minor-bidi;}

-भारत विकास परिषद की ओर से हिंडौन के सरकारी अस्पताल में आयोजित किया जाएगा रक्तदान शिविर

हिंडौन सिटी(लोकहित एक्सप्रेस)। रक्तदान से बढ़कर कोई दान नहीं हैं। यही कारण है कि शहर के कई सामाजिक संगठन समय-समय पर रक्तदान शिविरों का आयोजन कर रक्त संग्रहण का कार्य करता हैं। इस खून से ना जाने कितने लोगों की जिंदगी बचती हैं। इसी कार्य में जुटा हुआ है भारत विकास परिषद। आगामी 30 अगस्त को भारत विकास परिषद् शाखा हिण्डौन सिटी द्वारा 37 वाँ स्वैच्छिक रक्तदान शिविर स्व.श्री विशम्भर गर्ग बण्डी भोला की पुण्य स्मृति में उनकी पत्नि रुकमणी देवी एवं पुत्र संजय गर्ग,सन्तोष गर्ग के सहयोग से कोरोना वायरस(  कोविड –19) संकट के  कारण सरकारी अस्पताल करौली  (ब्लड बैंक) मे रक्त की कमी एवं गर्भवती महिलाओं हेतु आवश्यक्ता को देखते हुए 30 अगस्त 2020 रविवार को राजकीय चिकित्सालय मोहन नगर हिण्डौन सिटी में रक्तदान शिविर लगाया जा रहा है। प्रभारी नरेश रामपुरा ने बताया कि इस रक्त दान शिविर मे शहर मे जारी जीरो मोबिलिटी नियमो को ध्यान में रखते हुए रक्त दान शिविर का आयोजन किया जावेगा! सचिव पवन ऐरन ने बताया कि हिण्डौन क्षेत्र के किसी व्यक्ति की मृत्यु रक्त की कमी से ना हो परिषद् इसके लिये वचनवद्ध है और प्रयासरत है शिविर की तैयारियों हेतु एक मीटिंग रखी गयी जिसमें डा. आशीष शर्मा ने सम्बोधित करते हुये रक्तदान के प्रति फैली भ्रांतियो को दूर करते हुए कहा कि  18 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है जिसका हिमोग्लोबिन 12 ग्राम से अधिक हो तथा पिछले 3 माह से मलेरिया आदि कोई बीमारी नहीं हुई हो इसके अलावा जिसे पिछले 4 वर्ष में कोई सर्जरी नहीं हुई हो वह जिसे एचआईवी जैसी कोई बीमारी नहीं हो रक्तदान कर सकता है। रक्तदान का कोई विकल्प नहीं है उन्होंने बताया 1 वर्ष में अधिकतम 4 बार रक्तदान किया जा सकता है रक्तदान में 3 महीने का अंतर रखना चाहिए अध्यक्ष देवेन्द् जाँगिड़ ने संबोधन में कहा कि रक्तदान जीवनदान है। हमारे द्वारा किया गया रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता है।  आज हम सभी शिक्षि‍त व सभ्य समाज के नागरिक है, जो केवल अपनी नहीं बल्कि दूसरों की भलाई के लिए भी सोचते हैं तो क्यों नहीं हम रक्तदान के पुनीत कार्य में अपना सहयोग प्रदान करें।संगोष्ठी में अध्यक्ष देवेन्द्र जाँगिड़, सचिव पवन ऐरन,नरेश रामपुरा, योगेश गुप्ता,मुकेश जैन,अशोक गर्ग,वीरेन्द्र जैन,पंकज जैन,हेमन्त खत्री,यादराम महावर,आरती बिन्दल,मोना ऐरन आदि उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।