एसडीएम द्वारा नारायणगढ शहर में साफ सफाई एवं पानी की निकासी के लिए नगरपालिका प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।
August 22nd, 2020 | Post by :- | 46 Views

अम्बाला नारायणगढ़।(अशोक शर्मा)
एसडीएम डा. वैशाली शर्मा ने क्षेत्र से गुजरने वाली प्रमुख नदी मारकण्डा नदी का दौरा किया और नदी में पानी के जल स्तर का जायजा लिया। फिलहाल नदी का पानी खतरे के निशान से नीचे बह रहा है। इस मौके पर उनके साथ तहसीलदार दिनेश ढिल्लों व सम्बंधित विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे।
एसड़ीएम ने बारिस के मौसम को देखते हुए लोगों से अपील कि हैं कि वे वर्षा के दौरान तथा नदियों में पानी आने के समय नदियों के पास न जाएं और न ही नदी में प्रवेश करें और अपना जीवन संकट में न डाले। उन्होने कहा कि नदी किनारें के आस-पास के गांवों में चौकीदार के माध्यम से मुनादी करवाई गई है कि इस समय लोग नदियों के पास न जाएं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र से गुजरने वाली अधिकतर नाले तथा नदियां हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों से शुरू होकर यहां से निकलती हैं और पर्वतीय क्षेत्रों में बारिस होने पर उनमें पानी अचानक बढ जाता हैं। इसलिए पानी के दौरान नदियों में जाने से एहतियात बरते। उन्होंने ग्राम पंचायत जनप्रतिनिधियों से लोगों को इस बारें में जागरूक करने का आग्रह किया हैं। एसडीएम ने कहा कि प्रशासन द्वारा क्षेत्र से गुजरने वाली विभिन्न नदियों के पानी के बहाव पर नजर रखी जा रही हैं।
उन्होंने अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश देकर बारिस के दौरान पानी की निकासी के उचित प्रबन्ध करने की हिदायत दी हैं ताकि लोगों को पानी के जमाव का सामना न करना पडे। एसडीएम द्वारा नारायणगढ शहर में साफ सफाई एवं पानी की निकासी के लिए नगरपालिका प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं वहीं पर गांवों में इस कार्य के लिए खण्ड़ विकास एवं पंचायत अधिकारी तथा ग्राम पंचायतों को जिम्मेवारी सौंपी गई हैं।
उन्होंने कहा कि बारिश के मौसम को देखते हुए बिजली निगम के अधिकारी बिजली की उपलब्धता अनुसार बेहतर आपूर्ति करना सुनिश्चित करें ताकि लोगों को कम से कम बिजली की समस्या का सामना करना पडे। इसके अलावा बिजली एवं पानी से सम्बंधित शिकायतों को भी अधिकारी व कर्मचारी ध्यान से सुने और उनका निवारण कर लोगों को संतुष्ट करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।