बठिंडा में दिन-दिहाड़े चली गोलिया
August 21st, 2020 | Post by :- | 63 Views

*बठिंडा बाल कृष्ण शर्मा * बठिंडा-अमृतसर हाईवे पर शहर के बीचो-बीच उस समय दहशत का माहौल बन गया जब स्कार्पियो गाड़ी में आए आधा दर्जन युवकों ने बिना खौफ के गोलियां चलानी आरंभ कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल को घेरे में ले लिया। गोलीबारी में कार चालक के माथे पर गोली लगी जबकि उसके अन्य तीन साथी कार में ही थे पर भी गोलियां चलाई और बेसबाल से पीटा और कार को भी नुकसान पहुंचाया।

घटना दोपहर अढ़ाई बजे की है जब सिपल होटल के नजदीक पर्जापत कालोनी को जाने वाले मार्ग पर अचानक 4-5 गाडिय़ां रुकी जिसमें 20-25 युवक सवार थे। कुछ देर रुकने के बाद केवल एक गाड़ी लाल रंग की स्कोडा कार खड़ी रही तभी सफेद रंग की एक स्कार्पियो गाड़ी वहां पहुंची जिसमें आधा दर्जन युवक हथियारों से लैस थे। गाड़ी से उतर कर गैंगस्टरों ने लाल रंग की गाड़ी पर गोलीबारी शुर कर दी। लोगों अनुसार लगभग 10 राऊड फायर हुए जिसमें 12 बोर की बंदूक, 315 बोर की बंदूक का खुलकर प्रयोग किया गया। कुछ युवकों के पास बेसबाल व डंडे थे जिन्होंने कार में बैठे लोगों पर हमला बोल दिया और कार के शीशे तोड़कर कार को नुकसान पहुंचाया। गंभीर घायल युवक की पहचान ललित कुमार के रूप में हुई जोकि परस राम नगर निवासी है। इस स्थान पर आम तौर पर ईटों से भरी ट्रालियां व भवन निर्माण सामग्री की गाडिय़ां हमेशा खड़ी रहती है। यहां तक कि दर्जनों लोग वहां उपस्थित भी रहते हैं लेकिन घटना के बारे में कोई बोलने को तैयार नहीं।

वहां मौजूद ट्रक ड्राईवर अनुसार वह सामान उतारने के लिए खड़ा हुआ था तभी एक सफेद रंग की गाड़ी में कुछ लोग आए और उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। गोलियों की आवाज सुनकर वह ट्रक में ही सीट के नीचे छिप गया जब बाहर निकला तो देखा तो वहां भीड़ एकत्रित हो गई और एक व्यक्ति के माथे पर गोली लगी व अन्य भी घाव के कारण लगड़ा कर चल रहे थे। वहीं मौजूद ट्रैक्टर ड्राईवरों अनुसार गोलियों की आवाज सुनकर वह भी भाग खड़े हुए और छिपकर अपनी जान बचाई। उन्होंने बताया कि सफेद रंग की स्काॢपयों में आए कुछ लोगों ने उतरकर लाल रंग की कार को घेर लिया और खुलकर गोलियां चलाई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल का जायजा लिया और आसपास के लोगों को पूछा लेकिन उनके हाथ कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस ने आसपास के सी.सी.टी.वी. कैमरे खंगालने शुरू किए ताकि आरोपियों की पहचान की जा सके। मौके पर पहुंचे डी.एस.पी. परमजीत सिंह, डी.एस.पी. अशवंत सिंह, थाना कोतवाली प्रभारी दविन्द्र सिंह, थाना प्रभारी सिविल लाइन रविन्द्र कुमार, सी.आई.ए. प्रभारी जगदीश शर्मा के साथ फोरेंसिक स्टाफ व सैंकड़ों पुलिस कर्मी भी पहुंचे। इस मामले में पुलिस ने कुछ भी बताने से इंकार किया और जानकारी एकत्रित कर वह आदेश अस्पताल की और कूच कर गए जहां घायल ललित को लेजाया गया था। पता चला कि आदेश से घायल को पी.जी.आई. के लिए रैफर कर दिया। जबकि हमलावरों को अभी तक कोई सुराग नहीं चला। पुलिस ने केवल इतना कहा कि आरोपी जल्दी पकड़े जाएंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।