टीचर छात्रों को अपनी ओर से मोबाइल भेंट कर रहे है तो हिमाचल सरकार क्यों नही–अजय महाजन
August 21st, 2020 | Post by :- | 38 Views

 

 

गगन ललगोत्रा (व्यूरो कांगड़ा)

 

ऑनलाइन स्टडी के लिए छात्रों के पास बेहतर संसधान– अजय महाजन

जिला कांगड़ा कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अजय महाजन ने कोरोना काल में ऑनलाइन स्टडी के प्रदेश सरकार के दावे को वास्तविकता से परे करार दिया है। महाजन ने कहा कि कोरोना के चलते शिक्षण संस्थान बंद होने के चलते बच्चों की पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। घर बैठे ऑनलाइन स्टडी के लिए छात्रों के पास बेहतर संसाधन तथा एंड्रॉइड मोबाइल सुविधा होना जरूरी है, लेकिन प्रदेश में बेहतर ऑनलाइन स्टडी के दावे करने वाली सरकार ने यह जानने का प्रयास किया कि 68 विस क्षेत्रों में ऐसे कितने परिवार है, जो अपने अपने बच्चों को एंड्राइड फ़ोन की सुविधा उपलब्ध करवा पाए है या नहीं।

महाजन ने कहा कि सच्चाई यह है कि अधिकतर बच्चे, विशेष तौर पर सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले और समाज के निम्न वर्ग से संबंधित परिवारों के बच्चे न तो एंड्राइड मोबाइल की सुविधा रखते हैं और न ही अच्छी गुणवत्ता की इंटरनेट सुविधा उनके पास है। कोरोना काल मे इन बच्चों के अभिभावक अपनी रोजी-रोटी का बंदोबस्त भी बड़ी मश्कत से कर रहे हैं। चूंकि सब बच्चों को शिक्षा की सुविधा प्रदान करना सरकार की संवैधानिक जिम्मेदारी बनती है। इसलिए इस कोरोनाकाल में सब विद्यार्थियों की शिक्षा का उचित प्रबंध करने के लिए सरकार ठोस कदम उठाए।

अभी निकट भविष्य में स्कूल खुलने की कोई भी संभावना नहीं है। इसलिए बच्चों को लंबे समय तक ऑनलाइन शिक्षा पर ही निर्भर रहना पड़ेगा, जिसके लिए उन्हें एंड्राइड मोबाइल फोन और इंटरनेट की सुविधा की अहम आवश्यकता होगी। बच्चों के अभिभावक इतनी क्षमता नही रखते हैं कि वो उन्हें यह सहूलियत दे पाएं। यदि सरकार कोरोना काल मे नए मंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल करके उन्हें सारी सुख सुविधाएं प्रदान कर सकती है और राज्य के राजस्व पर भार डाल सकती है, तो शिक्षा जैसे अहम क्षेत्र में भी पैसा खर्च करने से सरकार को अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों नगरोटा बगवां के बलधर गांव के एक विद्यालय के शिक्षकों ने 15 बच्चों को अपनी और से मोबाइल भेंट किए। यदि अध्यापक अपने खर्चे पर बच्चों को यह सुविधा दे रहे हैं, तो सरकार को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। महाजन ने कहा कि पंजाब सरकार की तर्ज पर प्रदेश सरकार भी सरकारी विद्यालयों के बच्चों को यह स्मार्ट फ़ोन मुहैया करवाए, ताकि उनकी शिक्षा प्रभावित न हो पाए

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।