पर्यूषण पर्व के नवें दिन उत्तम अंकीचन धर्म के रूप में मनाया गया
September 11th, 2019 | Post by :- | 61 Views

बाांसवाडा(अरूण जोशी)
 बुधवार को पर्यूषण पर्व के नवें दिन उत्तम अंकीचन धर्म के रूप में मनाया गया प्रात भगवान का अभिषेक शान्ति धारा, तत्वर्थ सूत्र वाचन, दसधर्म पुजा की गई दोपहर में दस उपवास करने वाले आठ तपस्वी परिवार की ओर से चोबीसी कार्यक्रम रखा गया आचार्य सुनील सागर जी संघ की बाल ब्रह्मचारी श्रेया दीदी एवं श्वेता दीदी ने उत्तम अंकिचन धर्म में बताया कि बाहरी परित्याग के बाद भी मन भव त्यागना ही ंधर्म है दीदियों के सानिध्य एवं समाज के युवक युवतियों द्वारा‘‘संदीप से सुनील सागर‘‘नाटक का बेहतरीन मंचन हुआ नाटक का नामः बालक संदीप से आचार्य सुनील सागर महाराज

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।