मुख्यमंत्री की घोषणाओं को प्राथमिकता के आधार पर कार्यरूप में परिणत करें सम्बन्धित अधिकारी–इस विषय को लेकर हर महीने की जायेगी बैठक:-एडीसी प्रीति।
August 22nd, 2020 | Post by :- | 50 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) अतिरिक्त उपायुक्त प्रीति ने आज शुक्रवार को अपने कार्यालय में मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं से सम्बन्धित बैठक लेते हुए अधिकारियों को घोषणाओं को समय अवधि के तहत अमलीजामा पहनाने के निर्देश दिये और साथ ही कहा कि इस विषय को लेकर हर माह समीक्षा बैठक की जायेगी ताकि घोषणाओं की वास्तविकता का पता चल सके। इसीलिये सम्बन्धित अधिकारी बेहतर समन्वय के साथ घोषणाओं को पूरा करने का काम करें।

अतिरिक्त उपायुक्त ने बैठक में विस्तार से सम्बन्धित अधिकारियों से उनके विभाग से सम्बन्धित घोषणाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिला में 284 घोषणाओं के तहत 152 घोषणाएं पूरी हो चुकी है, 108 घोषणाओं पर कार्य जारी है तथा 6 घोषणाएं नॉट फिजिबल के साथ-साथ 18 घोषणाएं लम्बित हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री घोषणाओं को समय अवधि के तहत पूरा किया जाना जरूरी है ताकि इन घोषणाओं के पूरा होने के बाद जिला में विकास से सम्बन्धित अन्य घोषणाओं के लिये मांग की जा सके।

उन्होंने बैठक के दौरान मौलिक शिक्षा, औद्योगिक, नगर योजनाकार, कृषि, पशुपालन, पंचायत एवं विकास, वन, स्वास्थ्य, उच्च शिक्षा, गृह, सिंचाई, लेबर, बिजली, जनस्वास्थ्य, लोक सम्पर्क, लोक निर्माण, राजस्व, खेल, परिवहन, अर्बन लोकल बॉडी, महिला एवं बाल विकास के साथ-साथ अन्य विभागों के विभागाध्यक्षों के साथ चर्चा करते हुए इस विषय बारे विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने बैठक में यह भी स्पष्ट किया कि घोषणाओं से सम्बन्धित कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही सहन नही की जायेगी। यदि किसी विभाग की घोषणा से सम्बन्धित कोई तकनीकी या अन्य बाधा है, तो इस विषय को लेकर मुख्यालय के उच्च अधिकारियों से बात करें और की गई कार्रवाई बारे उनके संज्ञान में भी लाएं। बैठक में कार्यकारी अभियंता प्रवीण गुप्ता, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, इन्द्रजीत सिंह सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।