पूर्व सांसद अतीक के ड्राइवर की गिरफ्तारी को खुफिया तंत्र से मांगी मदद
August 19th, 2020 | Post by :- | 129 Views

प्रयागराज। अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद के ड्राइवर मो. उमर उर्फ मक्खी की तलाश फिर तेज हो चली है। पुलिस को आशंका है कि मो. उमर गुजरात में छिपा हो सकता है। इसलिए खुफिया तंत्र से मदद मांगी गई है।बीते 24 जुलाई को धूमनगंज थाने में पूर्व सांसद अतीक अहमद, उनके ड्राइवर मो. उमर व आसिफ उर्फ मल्ली, अली अहमद तथा सद्दाम के खिलाफ बमरौली निवासी प्रापर्टी डीलर जैद खालिद ने एफआइआर कराई थी। खालिद के अनुसार 22 नवंबर 2019 को जब वह अपनी ससुराल अल्का बिहार कॉलोनी से वापस लौट रहा था तभी कार सवार मल्ली, मक्खी आदि ने उसका अपहरण कर लिया और 15 लाख रुपये की रंगदारी मांगी। मल्ली ने जेल में बंद पूर्व सांसद से उसकी फोन पर बात कराई। इस घटना से एक साल पहले जैद को अगवा कर देवरिया जेल ले जाया गया था, जहां अतीक ने उसकी पिटाई की थी। उस प्रकरण में भी धूमनगंज थाने में मुकदमा लिखा गया था। कुछ दिन पहले पुलिस ने मल्ली को सिविल लाइंस से गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ में मिले सुराग के आधार पर मक्खी की तलाश हुई, पर वह हाथ नहीं लगा।पुलिस के मुताबिक ड्राइवर, पूर्व सांसद का बेहद खास आदमी है। अतीक जिस जेल में बंद रहता है, वह उसी शहर में किराये पर फ्लैट लेकर रहता है। ड्राइवर के करीबियों से पूछताछ में उसके शहर से बाहर होने की जानकारी मिली है। इसलिए खुफिया तंत्र को लगाया गया है। इसी केस में नामजद 25 हजार रुपये इनामी सद्दाम भी फरार है। तीन आरोपित मल्ली, अली अहमद व अतीक जेल में बंद हैं। सीओ सिविल लाइंस बृजनारायण सिंह ने बताया कि अतीक के ड्राइवर की गिरफ्तारी के लिए खुफिया तंत्र की मदद ली जा रही है। अभियुक्त से संपर्क में रहने वाले स्थानीय लोगों से भी लगातार पूछताछ चल रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।