हिमाचल प्रदेश में बनी 11 दवाओं के सैंपल फेल, उद्योगों को जारी होंगे नोटिस
August 19th, 2020 | Post by :- | 42 Views

बददी ! हिमाचल प्रदेश में बनी 11 जीवनरक्षक दवाओं के सैंपल हो गए हैं। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने इसको लेकर ड्रग अलर्ट जारी किया है। देशभर में कुल 35 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। सीडीएससीओ ने देश में कुल 808 दवाओं के सैंपल की जांच की थी, जिसमें से 773 सैंपल मानकों पर खरे उतरे हैं, जबकि 35 दवाओं के सैंपल फेल हो गए हैं। इनमें अधिकांश दवाएं बीपी/हाइपरटेंशन, एंटी बॉयोटिक, बुखार, गैस, कैल्शियम, एंटी एलर्जी, ताकत व उल्टी आदि के अलावा सैनिटाइजर भी शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड की 7, दिल्ली की 6 व पंजाब की 3 दवाओं के अलावा कर्नाटक, कोलकाता, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र व गुजरात में बनी दवाओं के भी सैंपल फेल हुए हैं। इसी तरह चीन में बनी एक दवा का सैंपल जांच में फेल हुआ है। प्रदेश में बनी दवाओं के इतनी बड़ी संख्या में सैंपल फेल होने के कारण प्रदेश की दवा निर्माता कंपनियों पर फिर से सवाल उठे हैं। बीबीएन के 9 तथा जिला सिरमौर व ऊना के एक-एक उद्योग की दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। ड्रग विभाग ने ऐसे सभी दवा उद्योगों को नोटिस जारी करने की तैयारी कर ली है जिनकी दवाएं मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं। इन सभी दवाओं के स्टॉक को बाजार से वापस बुलाया जाएगा, जिनकी दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं।

सीडीएससीओ से मिली जानकारी के अनुसार वीएडीएसपी फार्मास्यूटिकल झाड़माजरी की जोनेर्ब का बैच नंबर जैडआरबी-12, जी लेबारेट्रीज पांवटा साहिब की जेपरा एक्स टी का बैच नंबर 419-412, विजा ड्रग फार्मास्यूटिकल साई रोड बद्दी की रैमीगल-5 का बैच नंबर वीजी 8034, नोइल फार्मा इंडिया जुड्डी कलां बद्दी की आइसोप्रोफाइल एल्कोहल हैंड सैनिटाइजर बैच नंबर एनपीई 003, मार्टिन एंड ब्राउन बायोसांइस मल्कुमाजरा बद्दी डाइक्लोफेनेक, पोटाशियम और पैरासिटामोल बैच नंबर एमटी 1904, ऐश्वर्या हेल्थ केयर बद्दी की लूकोनाजोल इंजेक्शन बैच नंबर ए 9123, अलाइंस बायोटेक काठा बद्दी की एससिटलोप्रैम का बैच नंबर एटीटी 110, सेलिब्रिटी बायोफार्मा बरोटीवाला की कारवेडिलोल का बैच नंबर सीएडीजी 904001, विंग बायोटेक बद्दी की कैल्शियम एंड विटामिन डी 3 का बैच नंबर सीवीडीटी-1371, एडी बायोटेक कौंडी बद्दी की आइसोप्रोफाइल रबिंग सैनिटाइजर बैच नंबर 393 व स्विसकैम हेल्थ केयर हरोली ऊना की इथेनोल एंड आइसोप्रोफाइल एल्कोहल सैनिटाइजर एफ 512 का सैंपल फेल हुआ है।

सहायक राज्य दवा नियंत्रक मनीश कपूर ने बताया कि प्रदेश में 11 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। इन सभी उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे। साथ ही इन दवाओं के बैच के स्टॉक को बाजार से वापस मंगवाया जाएगा। ड्रग विभाग ने ऐसे उद्योगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है, जिनकी दवाओं के सैंपल फेल हो रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।