माननीय हाईकोर्ट के आदेशों की धज्जियां उड़ाने वाले कांग्रेस के युवराज विक्रमादित्य त्यागपत्र दे : हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ ।।
August 18th, 2020 | Post by :- | 1211 Views

लोकहित एक्सप्रेस हिमाचल :- भ्रष्टाचार मुक्त हिमाचल का अलख जगाने वाले हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप मनकोटिया तथा वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय सिंह की अध्यक्षता में आपातकाल मीटिंग हुई / बैठक में संघ के प्रदेशाध्यक्ष श्री कुलदीप मनकोटिया वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय सिंह , जनरल सेक्टरी स्वरूप सिंह चौधरी, महासचिव मनीष डोगरा, सचिव लेख राम, उपाध्यक्ष अजय रतन व संजय राणा मुख्य संगठन सचिव परसोत्तम दत्त, वित्त सचिव संजीव कुमार, संगठन सचिव यतेश शर्मा, हरिंदर पाल व सपना ऑडिटर सुधीर शर्मा एवं रणजोध सिंह, जिला अध्यक्ष कांगड़ा निर्मल सिंह जिला अध्यक्ष Una रजनी वाला जिला अध्यक्ष, बिलासपुर किशोरी लाल एवं जिला उपाध्यक्ष मंडी सुरेंद्र सिंह आदि ने माननीय हाईकोर्ट के फैसले जिसमें एसएमसी अध्यापकों की नियुक्तियों को रद्द किया गया है का स्वागत किया। संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री विजय सिंह ने सभी सदस्यों का मत प्राप्त करते हुए कांग्रेस के युवराज विक्रमादित्य को चेतावनी देते हुए कहा कि राज्य सरकार की नौकरियां किसी के मम्मी पापा की जागीर नहीं है जिसमें हिमाचल प्रदेश के सभी बेरोजगार युवाओं का अधिकार है एसएमसी मामले में गलत बयान बाजी करने के लिए उन्होंने विक्रमादित्य को नैतिकता के आधार पर रिजाइन करने के लिए कहा तथा सलाह दी कि वह एसएमसी पॉलिसी को ढंग से स्टडी करें। (२) इस अवसर पर संघ के सभी सदस्यों ने नवनियुक्त शिक्षा मंत्री श्री गोविंद सिंह ठाकुर को पूछा कि वह बताएं 15 लाख बेरोजगारों के साथ चलना चाहते हैं या चोर दरवाजे से रखे गए SMC अध्यापकों के साथ फैसला उनके हाथ में है (३) चुनावी घोषणा पत्र में भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने का वादा करने वाले दोनों राजनीतिक दल बीजेपी तथा कांग्रेस क्यों आज चोर दरवाजे से रखे गए SMC अध्यापकों की पैरवी करने की बात करते हैं क्या यह पूर्व कांग्रेस सरकार ने अपने चहेतों को नौकरिया नहीं दी है? (४) चोर दरवाजे की भर्तियां छोड़ कांग्रेस तथा बीजेपी के दोनों दल बताएं कि हिमाचल प्रदेश के 15 लाख बेरोजगारों के लिए उनके पास क्या योजना है और और वह हिमाचल को शिखर की ओर ले जाने की कैसे बात करते हैं? (५) प्रदेश मुख्यमंत्री बताएं की चोर दरवाजे से रखे गए s.m.c. शिक्षकों को रखने वाले पूर्व मुख्यमंत्री पर आज तक क्यों कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि यह भर्तियां आज प्रदेश के माननीय हाईकोर्ट ने भी गैर कानूनी घोषित कर दी है इसमें आर्टिकल 309 का उल्लंघन हुआ है। (६) क्या बीजेपी तथा कांग्रेस के नेता सत्ता के नशे में माननीय हाईकोर्ट के आदेशों को भी नहीं मानते हैं क्या यह नेता आज हाईकोर्ट से भी बड़े हैं। (७) संघ के सभी सदस्यों ने कहा कि माननीय हाईकोर्ट के आदेशों से समाज का हर वर्ग खुश है परंतु बड़े दुर्भाग्य की बात है कि प्रदेश के दोनों राजनीतिक दल बहुत दुखी हैं क्योंकि अब समय आ गया है जब राजनेताओं का भ्रष्टाचार प्रदेश के युवा खत्म करेंगे। हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ विक्रमादित्य की नीतियों को समाज के हर वर्ग तक लेकर जाएगा और उन्हें बताएगा की कांग्रेस का आने वाला भविष्य किस तरह भ्रष्टाचार को संरक्षण दे रहा है संघ के सभी सदस्यों ने सरकार से मांग की कि वह बैच वाइज तथा कमीशन के माध्यम से प्रदेश के चयन बोर्ड से अध्यापकों की भर्ती करें और भ्रष्टाचार के रास्तों को छोड़ दें क्योंकि बेरोजगारों ने बीजेपी को इसलिए प्रदेश में लाए थे ताकि भ्रष्टाचार की नीतियां खत्म हो ! हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ माननीय हाईकोर्ट के आदेशों की एक प्रति अगले महीने से एसडीम की माध्यम से माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी बीजेपी अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा गृह मंत्री श्री अमित शाह तथा एचआरडी मिनिस्ट्री को सौंपेंगे तथा उनसे मांग करेंगे हिमाचल प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में जो फैला हुआ भ्रष्टाचार का षड्यंत्र है उसे ध्वस्त करें और शिक्षा के मंदिर में नई आशा की किरण दिखाएं हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ !

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।