सखी मंच का उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना है :- महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी |
September 11th, 2019 | Post by :- | 330 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी पलवल-1 द्वारा बुधवार को ओल्ड कोर्ट स्थित कार्यालय में खंड स्तर पर सखी मंच एवं पोषण माह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में सिविल सर्जन प्रदीप कुमार मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहे। सिविल सर्जन द्वारा आंगनवाडी वर्करों की टीकाकरण एवं पोलियो अभियान में उनकी भूमिका की प्रशंसा करते हुए उन्हें प्रोत्साहित किया।

उन्होंने पोषण माह का महत्व बताते हुए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता एवं एएनएम को साथ मिलकर कार्य करने को प्राथमिकता देते हुए गांव की महिलाओं को पोष्टिक आहार एवं कम खर्च पर बनने वाले पोष्टिïक आहारों के बारे में जानकारी दी।  इस अवसर पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को  पोषण बुकलैट भी वितरित की गई।  कार्यक्रम में लगभग 70 आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं महिलाओं ने भाग लिया। इस दौरान सभी को पोषण शपथ दिलाई गई।
कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी मीनाक्षी चौधरी ने सखी मंच का महत्व बताते हुए महिलाओं को विभाग की सभी स्कीमों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने महिला ई-हार्ट पोर्टल, घरेलू हिंसा, वन स्टॉप सैन्टर, एसिड अटैक से पीडि़त महिलाओं, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना एवं आपकी बेटी हमारी बेटी योजना के बारे में विशेष रूप से जानकारी प्रदान की।
उन्होनें कहा कि सखी मंच का उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना है। उनके द्वारा पोषण अभियान के बारे में बताया गया कि इस कार्यक्रम की शुरूआत झुंझनू राजस्थान से माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा मार्च 2018 में की गई थी। इसका उदे्दश्य बच्चों एवं महिलाओं में कुपोषण, एनिमिया, बच्चों में बौनेपन, शिशु एवं मातृत्व मृत्यु  दर में कमी लाना है।
उन्होंने कहा कि इस अभियान के अंर्तगत महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा अधिकारियों, सुपरवाईजरों एवं आंगनवाडी वर्करों की ट्रेनिग ब्लॉक, जिला, तथा प्रदेश स्तर पर करवाई जा रही है। जिसमें विभिन्न विभागों की भागीदारी से योजनाओं को फलीभूत किया जा रहा है। उन्होनें बताया कि स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर समेकित बाल विकास योजना महिला एवं बाल विकास विभाग की भागीदारी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है जोकि उपरोक्त लक्ष्यों की प्राप्ति का कार्य कर रही है।
कार्यक्रम में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी योगेश मलिक, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के जिला प्रबंधक कर्मवीर डागर, वन-स्टॉप सेंटर से सपना एवं पुलवाश एवं इस परियोजना की सुपरवाईजर प्रवीन शादाब, पूनम तेवतिया एवं कुमारी काजल मुख्य रूप से मौजूद थी।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।