रोडवेज़ कर्मियों ने लम्बित मांगो को लेकर किया प्रदर्शन
August 18th, 2020 | Post by :- | 36 Views

यमुनानगर,(सुरेश अंसल)। रोडवेज़ कर्मचारियों की लम्बित मांगों को लागू करवाने के लिए रोडवेज तालमेल कमेटी ने आंदोलन तेज कर दिया। कमेटी यमुनानगर द्वारा कमेटी के वरिष्ठ सदस्य ईश्वर लाल सिली, नन्द लाल काम्बोज, की अध्यक्षता में राज्य तालमेल कमेटी के आह्वान पर सुबह दस बजे से शाम चार बजे तक एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया। जिसमें राज्य तालमेल कमेटी की तरफ से इन्द्र सिंह बधना राज्य प्रधान sks , बिजेंद्र मुख्य संगठन सचिव sks , फूल कुमार काम्बोज महासंघ मुख्य रूप से शामिल हुए। मंच का संचालन महिपाल सोडे व वरयाम सिंह सैनी ने किया । राज्य प्रधान इन्द्र सिंह बधना ने कहा कि किलोमीटर स्कीम व स्टेज कैरिज स्कीम एवं कर्मचारियों की लम्बित मांगों को लेकर गत 6 जनवरी व 4 जून  को परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में हुई मीटिंग के निर्णयों व मानी गई मांगों को परिवहन विभाग द्वारा धरातल पर लागू नहीं किया गया। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि हरियाणा रोड़वेज कर्मचारी तालमेल कमेटी द्वारा लगातार विरोध करने पर भी सरकार द्वारा किलोमीटर स्कीम के तहत लगभग 500 बसें चला दी गई। तालमेल कमेटी द्वारा दिनांक 4 जून को स्टेज कैरिज स्कीम 2016 रद्द करने बारे लिखित ज्ञापन देने उपरांत भी विभाग व जनहित में दिए गए सुझाव को दरकिनार करके कोरोना महामारी के दौरान भी स्टेज कैरिज स्कीम लागू करने की प्रक्रिया पुरी की जा चुकी है। परिवहन मंत्री व उच्च अधिकारियों के साथ हुई अनेक मीटिंगों में लम्बित मांगों को लागू करने का बार-बार वायदा किया गया। सरकार द्वारा किलोमीटर स्कीम व स्टेज कैरिज स्कीम लागू करके एवं कुछ मांगों को छोड़कर सहमत मुख्य मांगों को लागू ना करके सरकार द्वारा कर्मचारियों के साथ वादाखिलाफी की है। जिस कारण रोड़वेज कर्मचारियों में काफी रोष है। 1992 से 2002 के मध्य लगे सभी कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से पक्का करने, सभी कर्मचारियों को 5 हजार रुपये जोखिम भत्ता देने, खाली पदों पर पक्की भर्ती करने, परिचालकों का पे स्केल बढाने, पुरानी पैंशन स्कीम लागू करने, वर्ष 2018 में हुई 18 दिन की हड़ताल के दौरान कर्मचारियों पर एस्मा के तहत दर्ज मुकदमे व हड़ताल का समर्थन व सहयोग करने पर अन्य विभागों के कर्मचारियों व आम नागरिकों पर दर्ज मुकदमे रद्द करने, चार साल के बकाया बोनस का भुगतान करने, कर्मशाला कर्मचारियों को तकनीकी वेतनमान देने, कर्मशाला कर्मचारियों के राजपत्रित अवकाश पहले की तरह लागू करने, 2016 में भर्ती चालकों को पक्का करने, परिचालकों को ई टिक्टींग मशीन उपलब्ध करवाने, कोरोना महामारी के चलते रोड़वेज कर्मचारियों को 50 लाख रूपये बीमा पॉलिसी में शामिल करने, पी पी ई किट सहित सभी उपकरण उपलब्ध करवाने, कोरोना महामारी के दौरान बसें खड़ी रहने,सोशल डिसटैंस के कारण बसों मे कम यात्रियों के सफर करने, कर्मचारियों के बंद किये DA व LTC आदि भत्ते शुरू करने, नई भर्ती पर लगाई गई रोक हटाने, वर्दी व जूतों के रेट बढाने, निजीकरण व ठेका प्रथा पर रोक लगाने, विभाग में प्रति वर्ष 2000 सरकारी बसें शामिल करने आदि सहमत हुई मांगों को लागू करने के लिए सरकार व प्रशासन बिल्कुल गम्भीर नहीं है। सरकार ने हरियाणा रोडवेज तालमेल कमेटी द्वारा मांग पत्र को पूरा नहीं किया गया । आगाामी 5 सितम्बर को हरियाणा रोड़वेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के मास डैपूटेशन द्वारा फरीदाबाद में परिवहन मंत्री से मिलकर स्टेज कैरिज स्कीम व किलोमीटर स्कीम रद्द करने व लम्बित मांगों को लागू नहीं करने पर सरकार की हठधर्मिता व वादाखिलाफी के विरोध में रोष जाहिर किया जाएगा । आज के धरने में राम पाल, वीरेंद्र काम्बोज, संजीव , सुनील,मनीष, सुमित सूद, प्रदीप, नरेंद्र, राम करण आदि कर्मचारियों ने भाग लिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।