पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी राजनीति में शुचिता व पारदर्शिता के रहे समर्थक : डा. नीना सतपाल राठी
August 16th, 2020 | Post by :- | 166 Views
बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)
कहा, भारत हमेशा उन्हें उनकी उत्कृष्ट सेवा और राष्ट्र की प्रगति के प्रयासों के लिए याद रखेगा।
भारत रत्न एवं पूर्व पीएम वाजपेयी को उनकी दूसरी पुण्य तिथि पर दी गई श्रद्धांजलि
बहादुरगढ़़। भारत रत्न एवं पूर्र्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि पर उन्हें याद किया गया। वरिष्ठ भाजपा नेत्री एवं नगर पार्षद डा. नीना सतपाल राठी ने दिल्ली-रोहतक रोड स्थित सांखोल में अपने कार्यालय पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी सादगी के प्रतीक थे। वे उन चुनिंदा नेताओं में शुमार रहे हैं जिनकी स्वीकार्यता सभी सियासी दलों में है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि अटल जी राजनीति में शुचिता और पारदर्शिता के समर्थक थे। पूर्व पी.एम. की पुण्यतिथि पर ओमेक्स सिटी परिसर में पौधरोपण भी किया गया। भाजपा नेत्री डा. नीना सतपाल राठी ने कहा कि उनके दिल में राजनेता के साथ एक कवि भी बसता था। हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा, काल के कपाल पर लिखता मिटाता हूं गीत नया गाता हूं उनकी लोकप्रिय कविताओं में से एक है। उन्होंने कहा कि आज से ठीक 2 साल पहले 93 वर्ष की आयु में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लम्बी बीमारी के चलते निधन हो गया था। उनके निधन के बाद भारतीय जनता पार्टी ने उनकी अस्थियों को देश की 100 नदियों में प्रवाहित किया था। किसी भी विषय पर धाराप्रवाह बोलने की उनकी क्षमता का हर कोई मुरीद था। हर किसी पार्टी के नेता उनका पूरा आदर सम्मान करते थे। पूर्व पीएम वाजपेयी को प्रकृति से भी विशेष लगाव था। उन्होंने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी के शब्द और उनका जीवन चाहे किसी ने उन्हें करीब से देखा हो या दूर से, सभी ने उन्हें एक जैसा ही पाया और उन पर भरोसा भी किया। सार्वजनिक जीवन पर इतनी ऊंचाई पर पहुंचने के बाद भी वे सामान्यजन के प्रति संवेदनशील थे। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा उन्हें उनकी उत्कृष्ट सेवा और राष्ट्र की प्र्रगति के प्रयासों के लिए याद रखेगा। ये देश उनके योगदान को कभी भुला नहीं सकता। उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति में भी देश का सिर ऊपर किया है। पार्टी नेता, सांसद, मंत्री या प्रधानमंत्री के तौर पर पूर्व पी.एम. अटल बिहारी ने प्रत्येक भूमिका में एक आदर्श को प्रतिष्ठित किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री के तौर पर 3 बार देश का नेतृत्व किया। इस दौरान अपने भाषणों व सकारात्मक सोच से सबको हिलाकर रख दिया था। उनके भाषणों को सुनने के लिए विपक्ष भी शांत बैठा करता था। उनके भाषण हमेशा शानदार होते थे।
–फोटो कैप्शन : पूर्व पीएम स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए वरिष्ठ भाजपा नेत्री डा. नीना सतपाल राठी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।