स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर शहीदों को नमन कर किया गया वृक्षारोपण |
August 16th, 2020 | Post by :- | 67 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 16 अगस्त :- हमारे प्यारे भारत देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर पर्यावरण सचेतक समिति द्वारा वृक्षारोपण किया गया। रेलवे स्टेशन के पास अनाज मंडी एवं अलावलपुर रेलवे पुल के नजदीक शीशम, पीपल, पिलखन, नीम एवं वटवृक्ष आदि पौधे लगा कर स्वतंत्रता दिवस को मनाया गया। इस शुभावसर पर शहीदों को नमन कर वृक्षरोपण किया।

पर्यावरण सचेतक समिति के संयोजक आचार्य राम कुमार बघेल ने बताया कि आज पूरा विश्व प्रकृति के साथ छेड़- छाड़ के नतीजे भुगत रहा है। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी प्रकृति की मनुष्यों को चेतावनी है। पृथ्वी पर बढ़ते अनावश्यक असंतुलित दबाव, खतरनाक तूफान, भूकम्प आदि ऐसी सभी प्रकार की आपदाओं से बचने का एक मात्र उपाय प्रकृति का संरक्षण है। नदियों, कुओं, तालाबों आदि के समाप्त एवं घटते जल स्तर, कंक्रीट में बदलते वन क्षेत्र और लुप्त होते जीव- जंतु यह सब मानवजाति को सर्वनाश की तरफ धकेल रहे हैं। हमको समझना होगा की भारतीय सभ्यता और संस्कृति हमें प्रकृति की वंदना और रक्षा करना सिखाती है।

हम स्वार्थ में  प्रकृति का नुकसान कर रहे हैं। मनुष्य को प्रकृति को बचाने के लिए अंदर दयाभावों को जागृत करना होगा। प्रत्येक पर्व एवं शुभावसर पर हम सबको एक पेड़ जरूर लगाना चाहिए। हम सभी को मिलकर प्रयास करने होंगे जिससे तन,मन और धन से प्रकृति को बचाया जा सके। जल, पेड़- पौधे और सभी पशु- पक्षी प्रकृति को संतुलित रखने में अपना- अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। पर्यावरण संरक्षण के लिए जल बचाओ, वृक्षारोपन, जीवों पर दया आदि पर्यावरण संरक्षण महाअभियान में प्रत्येक नागरिक को अपना नैतिक कर्तव्य समझकर प्रकृति को बचाने के लिए कार्य करने की आवश्यकता है।

इस अवसर पर समिति पदाधिकारी मॉस्टर थानसिंह, देव कुमार, अमरपाल, विक्रम, गजेंद्र, सर्वेश, पवन और शिवम आदि ने वृक्षारोपण में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।