विधायक नायर ने करोडों रुपये की लागत से होने वाले विकास कार्यों का किया उद्धघाटन|
August 16th, 2020 | Post by :- | 302 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 16 अगस्त :- होडल क्षेत्रीय विधायक जगदीश नायर ने रविवार को गांव पेंगलतु में करोडों रुपये की लागत से होने वाले विकास कार्यों का नारियल फोडकर व फिता काटकर उद्धघाटन किया। नायर का गांव पेंगलतु में पहुंचने पर ग्रामीणों ने  फूलों की वर्षा कर स्वागत किया। नायर यहां ग्रामीणों की समस्याओं से भी रूबरू हुए और उन्हें प्रत्येक समस्या का जल्द निपटारा करने का आश्वासन दिया। इस मौके पर नायर के साथ विभागों के अधिकारी व पूर्व सरपंच वीरेंद्र सेवली, राजकुमार तायल, राधेश्याम कालडा, नेकपाल कड्डन, कपडा यूनियन प्रधान रमेश चंद गर्ग आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।
विधायक जगदीश नायर ने रविवार को होडल रोहता पट्टी में 25 लाख रुपये की लागत से बघेल मंदिर पर देवी अहिल्ला बाई होल्कर भवन पर नारियल फोडकर उद्धघाटन किया। उसके बाद नायर ने गांव पेंगलतु में पहुंचकर 10 करोड 85 लाख रुपये की लागत से बनने वाले गांव के मुख्य द्वार, स्कूल गेट व रास्ता, फिरनी, सारदारे वाली चौपाल, पशु अस्पताल, समशान घाट रास्ता व छतरी, परशुराम व पंचायत भवन के अलावा आठ करोड पचास लाख रुपये की लागत से पांच गांवों में मीठा पानी पहुंचने के लिए बनाए गए बुस्टर का रिवन काटकर व नारियल फोडकर उद्धघाटन किया। गांव पेंगलतु के बडे मंदिर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए विधायक नायर ने कहा कि गांवों व शहरों के विकास के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर ने पूरी तरह से खजाने खोले हैं।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार अपने नारे सबका साथ-सबका विकास पर पूरी तरह से खरा उतर रही हैं। देश में एक भी ऐसा जनता से किया गया वायदा नहीं बचा है जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने पूरा नहीं किया हो। आज प्रदेश की जनता बीजेपी सरकार के लिए वाहि-वाहि कर रही हैं। नायर ने यहां ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने के बाद उनका जल्द निपटारा करने का आश्वासन दिया। इस मौके पर नायर के साथ पूर्व सरपंच भूपराम, अधिवक्ता भूप सौरोत, जयसिह राविया, जिला पार्षद चंदन सिंह बघेल समाज के प्रधान रतन बघेल, पूरन भगत, लखन बघेल, ज्ञासीराम के अलावा अन्य पार्टी कार्यकर्ता व ग्रामीण मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।