HC का निर्देश: दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी का कड़ाई से कराएं पालन
August 8th, 2020 | Post by :- | 161 Views

प्रयागराज। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार को ‘दो गज की दूरी, संकाय है जरूरी’ नियम का कड़क से पालन कराने का निर्देश दिया है। हाई कोर्ट ने कहा कि अपर मुख्य सचिव के छह अगस्त को जारी शासनादेश का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए हर जिले में एक अधिकारी तैनात किया जाएगा। क्वारंटाइन सेंटरों की दुर्दशा और अस्पतालों में इलाज की बेहतर सुविधाओं को लेकर कायम जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा और न्यायमूर्ति अजित कुमार की खंडपीठ ने यह आदेश दिया है।

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सीएमओ प्रयागराज से पूछा गया जानकारी नहीं देने पर नाराजगी जताई। कोर्ट ने दाखिल हलफनामा वापस कर दिया और बेहतर हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया। तल्ख टिप्पणियाँ करते हुए कहा कि जिस तरह से सीएमओ कार्यालय को काम करना चाहिए, उसके अनुरूप नहीं किया जा रहा है। कोर्ट ने जांच रिपोर्ट आने में दो सप्ताह की देरी पर सिलसिलेवार कार्रवाई का ब्योरा मांगा था।अधिवक्ता एसपीएस चौहान ने कहा कि मरीजों को अस्पताल में क्वारंटाइन नहीं किया जा रहा है। रोगी अस्पताल से बाहर घूम रहे हैं। अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने कहा कि अस्पतालों की सुरक्षा कड़ी की जाएगी और ट्रेसिंग होगी। नगर आयुक्त रवि रंजन ने कहा कि शहर से अतिक्रमण हटाने के बाद दोबारा न होने की जिम्मेदारी थाना पुलिस को सौंपने का 14 दिसंबर 2012 को शासनादेश जारी किया गया है, जिस पर अमल नहीं किया जा रहा है। कोर्ट ने नगर आयुक्त प्रयागराज से पिछले 10 वर्षों की अतिक्रमण हटाने की थाना पुलिस को दी गई सूचना का ब्योरा हलफनामे के जरिए पेश करने का निर्देश दिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।