गऊशाला के लिए जमीन खरीदने पर लगेगी 1 प्रतिशत अस्टाम डयूटी:मंगला
September 10th, 2019 | Post by :- | 146 Views

कुरुक्षेत्र( शिव चरण, ऋषि राणा )    ।      हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानीराम मंगला ने कहा कि गऊशालाओं के लिए जो भी व्यक्ति जमीन खरीदेगा उसको केवल अस्टाम डयूटी के रुप में 1 प्रतिशत राशि की है अदायगी करनी पड़ेगी। इस सरकार ने गऊशालाओं के संचालन के लिए अनुदान राशि देने की प्रथा को शुरु करने का काम किया है और गौवंश की रक्षा के लिए सख्त कानून भी बनाए है।

चेयरमैन भानीराम मंगला गीता ज्ञान संस्थानम में मंगलवार को देर सायं हरियाणा गऊशाला आयोग द्वारा जिला कुरुक्षेत्र को गौवंश के लिए चारा अनुदान राशि वितरण समारोह में बोल रहे थे। इससे पहले हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानीराम मंगला ने जयश्री श्याम गऊशाला अमीन को 1 लाख 86 हजार, श्रीकृष्ण गौशाला सोसायटी लाडवा को 2 लाख 64 हजार 600, श्री मारकंडेश्वर गौशाला एवं समाज कल्याण समिति शाहबाद को 1 लाख 23 हजार, श्रीकृष्ण कृपा गौशाला समिति पिहोवा को 4 लाख 58 हजार 700, गऊ सेवा समिति इस्माईलाबाद को 1 लाख 89 हजार 600, श्री अंखड हनुमान गऊशाला मथाना को 1 लाख 31 हजार 400, गौरख नाथ गऊशाला समिति थाना को 2 लाख 5 हजार 800, मथाना गौवंश धाम एवं अनुसंधान केन्द्र को 3 लाख 92 हजार 400, श्री गोपाल कृष्ण गौशाला बगथला को 50 हजार, श्री गोपाल कृष्ण गऊशाला गुरुकुल को 85 हजार 500, गीता धाम गौशाला थानेसर को 50 हजार, श्रीकृष्ण गौशाला समिति शाहबाद को 1 लाख 11 हजार 600, श्री महादेव गऊशाला बाहरी मौहल्ला को 60 हजार 900, ओम शिव गौरख नाथ नमो गऊशाला बाखली को 50 हजार, बाबा मठीवाला गौ रक्षा केन्द्र उमरी को 50 हजार, श्री गौवंश चिकित्सालय वजीदपुर को 50 हजार, कान्हा गौशाला बारना को 1 लाख 38 हजार 600, महादेव गऊशाला जनता फार्म पिहोवा को 50 हजार, हर-हर महादेव गऊशाला पिहोवा केा 50 हजार तथा श्रीकृष्ण कृपा गऊशाला थानेसर को 66 हजार रुपए की राशि के चैक सौंपे है।

उन्होंने कहा कि गऊशालाओं में सौलर पम्प लगाने के लिए राज्य सरकार की तरफ से 75 प्रतिशत सबसीडी दी जा रही है और गांव के सरपंच भी मनरेगा के माध्यम से गऊशालाओं के विकास के लिए पैसा खर्च कर सकते है। इस सरकार द्वारा बनाए गए आयोग के बाद केन्द्र में भी गऊशाला आयोग बना दिया गया है। चेयरमैन ने कहा कि गऊशालाओं में प्रशिक्षण शिविरों का भी आयोजन किया जा रहा है। गऊशालाओं में चारा मशीन और अन्य यंत्रों पर भी अनुदान राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। इस दौरान चेयरमैन ने गऊशालाओं के संचालकों से फीडबैक रिपोर्ट लेने के बाद सुझाव भी आमंत्रित किए और कहा कि प्रयास किया जा रहा है कि राज्य सरकार हड्डïा रोड़ी के लिए भी जमीन उपलब्ध करवाए। इसके अलावा पशुओं के लिए एम्बूलैंस सेवाओं को भी उपलब्ध करवाने का प्रयास कर रही है। इस मौके पर पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डा. धमेन्द्र कुमार, थानेसर ब्लाक समिति के चैयरमैन देवी दयाल शर्मा आदि उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।