बुल्लड़ पहलवान ने दिव्यांग व बिन भाइयों की बहनों के साथ मनाया रक्षाबंधन का त्यौहार
August 3rd, 2020 | Post by :- | 71 Views
बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ(गौरव शर्मा)
बुल्लड़ पहलवान ने घर घर जाकर दिव्यांग बहनों से बंधवाई राखी
*बुल्लड़ पहलवान ने सभी बहनों से राखी बंधवाने के उपरांत उनके हर सुख दुख में साथ खड़े रहने का दिया वचन
बहादुरगढ़। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी समाजसेवी बुल्लड़ पहलवान ने बहादुरगढ़ क्षेत्र की जरूरतमंद व बिन भाइयों की बहनों से राखी बंधवाई रक्षाबंधन का त्यौहार उनके साथ मनाया। बुल्लड़ पहलवान के घर आई ग्रामीण व शहरी क्षेत्र से पुनम, मनिषा,ममता,सपना, कोमल,रामकली,सुनिता, साक्षी,काजल, प्रेम
आदि बहनो ने बताया कि वो बुल्लड़ पहलवान को हर साल राखी बांधती है, और बदले में बुल्लड पहलवान भाई की तरह ही शगुन में मिठाई, वस्त्र व नकद राशि देकर एक भाई का फर्ज अदा करते हैं।
इस मौके पर समाजसेवी बुल्लड़ पहलवान ने बताया कि पिछले 4 सालों से उनकी ओर से हमारी ओर से हलके की जरूरतमंद बहनों के साथ सामूहिक रक्षाबंधन मनाने का कार्यक्रम सार्वजनिक स्थल पर किया जाता रहा है  लेकिन अबकी बार कोरोना महामारी को देखते हुए सार्वजनिक स्थल पर  एकत्रित ना करके अपने घर पर ही सोशल व फिजीकल डिस्टेंस की पालना करते हुए बहनों से राखी बंधवाई है। बुल्लड़ पहलवान ने बताया कि  जो बहन चलने फिरने में असमर्थ रही दिव्यांग  व मूक बहनों से उनके घर पर जाकर राखी बंधवाई है। बुल्लड़ पहलवान ने बताया कि जिस भी दिव्यांग बहन का राखी बंधवाने के लिए फोन आया तो वह तुरंत बहनों के बताए हुए एड्रेस पर पहुंचकर बहनों से राखी बंधवाई। पूरा दिन बुल्लड़ पहलवान ने दिव्यांग बहनों के बुलावे पर उनके घर घर जाकर जाकर राखी बंधवाई व सभी बहनों के हर दुख- सुख में हमेशा आगे व साथ खड़ा रहने का वचन दिया।
फोटो कैप्शन :- समाजसेवी बुल्लड़ पहलवान बहनों से राखी बंधवाते हुए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।