उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने लघु सचिवालय नारायणगढ़ में बनाये गये कान्फ्रेंस हॉल का उद्घाटन किया।
August 3rd, 2020 | Post by :- | 48 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज लघु सचिवालय नारायणगढ़ में बनाये गये कान्फ्रेंस हॉल का उद्घाटन किया। उन्होंने रक्षा बंधन के पर्व की शुभकामनाएं भी दी। इससे पूर्व उन्होंने त्रिवेणी का पौधा भी लगाया। इस अवसर पर उपायुक्त ने उपमण्डल नारायणगढ़ की उन संस्थाओं को भी प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया जिन्होंने कोरोना काल के समय लॉक डाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों एवं जरूरतमंद निर्धन लोगों की मदद के लिए प्रशासन का सहयोग किया था। उपायुक्त ने एसडीएम अदिति की कार्यशैली की भी प्रशंसा की और उपमण्ड़ल नारायणगढ़ में उनके द्वारा करवाये गये कार्यो की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि एसडीएम अदिति द्वारा नारायणगढ में बर्तन बैंक का शुभारम्भ करवाना, शुगर मिल सम्बंधी किसानों की समस्या का निवारण, सिंगल यूज प्लास्टिक एवं पोलोथीन के वजन के बराबर चावल देने की स्कीम, स्वच्छता अभियान, चुनाव को सही प्रकार से सम्पन्न करवाना, लॉक डाउन के दौरान बेहतरीन प्रशासनिक व्यवस्था बनाएं रखना तथा उपमण्डल में बाढ रोकथाम सम्बंधी किये गये कार्यो की जितनी भी सराहना की जाए वह कम है।
इस अवसर पर उपायुक्त ने कहा कि कान्फ्रेंस हॉल में जल्द ही वाई-फाई तथा विडियों कान्फ्रेंसिग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कोरोना वायरस (कोविड-19) के बारे में लोगों को सचेत करते हुए कहा कि यह वैश्विक बिमारी आज तेजी से फैल रही है और ऐसे में सावधानी रखना बेहद आवश्यक है। कोविड-19 की रोकथाम एवं इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जिला अम्बाला में बेहत्तर काम हो रहा है। टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। गत दिवस तक जिला में लगभग साढे 37 हजार टैस्ट हो चुके है। जिनमें से 1701 पॉजिटिव केस आये है। हमारे लोगों की इम्यूनिटी बेहत्तर होने के कारण रिकवरी भी बढिया है। उन्होंने कहा कि जरा सी चूक घातक सिद्ध होगी। इसलिए ब्रैंड एम्बेसडर बनकर काम करें और लोगों को कोविड-19 के बारे में जागरूक करें।
उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग यानि दो गज की दूरी, मास्क का प्रयोग, सेनिटाइजर या 20 सैकण्ड तक हाथों को अच्छी प्रकार से साबुन एवं पानी से धोएं आदि से सम्बंधी सावधानी रखना बेहद आवश्यक है। उपायुक्त ने कहा कि गत पांच मास में जिला अम्बाला में खासकर नारायणगढ़ में सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं द्वारा निस्वार्थ भाव से काम किया गया है। जिसके लिए वे सभी संस्थाओं तथा मीडिया का भी दिल से आभार व्यक्त करते है। उन्होने कहा कि समाज सेवा का कार्य कभी व्यर्थ नहीं जाता है, इससे मानसिक बल एवं शांति मिलती है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान जिला अम्बाला में 22-23 शैल्टर होम में लगभग 50 दिन से अधिक चार हजार प्रवासी श्रमिक ठहराये गये और उनके लिए तीनों समय भोजन की व्यवस्था की गई थी जिसमें संस्थाओं का भी पूरा सहयोग मिला। लॉकडाउन के दौरान प्रशासन द्वारा किये गये कार्यो का एमएचए (गृह मंत्रालय ) के पास भारत वर्ष के सभी जिलों का विवरण है और जिला अम्बाला में हुए कार्यो की प्रशंसा करते हुए प्रजेंटेशन एमएचए ने मंगवाकर दूसरे जिलों को भी भेजी थी।
इससे पूर्व उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा का उपमण्ड़ल नारायणगढ़ में पहुंचने पर एसडीएम अदिति ने स्वागत करते हुए सभी को रक्षा बंधन के पर्व की शुभकामनाएं दी। एसडीएम ने कहा कि उन्होंने उपायुक्त के सामने कान्फ्रैंस हॉल बनवाने का अनुरोध किया था जिन्होंने उसे मंजूर करते हुए इसे बनवाया है। ऐसा ही एक कान्फ्रेंस हॉल बराड़ा में भी बनवाया गया है। उन्होंने कहा कि उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा के मार्ग दर्शन में काम करने से उन्हें बहुत कुछ सीखने को भी मिला है और जो भी समस्या उन्होंने उपमण्डल सम्बंधी उनके सामने रखी उसका सहज ही उन्होंने निवारण किया।
एसडीएम ने कोरोना संकट काल में यहां की संस्थाओं खासकर राधा स्वामी सत्संग घर ब्यास सैंटर द्वारा दिये गये सहयोग के लिए उनका आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने मीडिया का भी सहयोग देने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने बताया कि संस्थाओं के सहयोग से ही 5200 सुखा राशन किट जरूरतमंद निर्धन परिवारों को वितरित की गई है। जिस कारण कोई भी भूखा नहीं सोया है। संस्थाओं ने सेवा समझकर जिस प्रकार से भी सहयोग किया। उसके लिए वे सभी संस्थाओं का आभार व्यक्त करती है। इस अवसर पर डीएसपी अनिल कुमार, तहसीलदार दिनेश ढिल्लों, नायब तहसीलदार शहजादपुर सुरेन्द्र भारद्वाज, बीडीपीओ संजय टांक, जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता समीर शर्मा, पीडबल्यूडी विभाग के एक्सैन हेमंत, एसएमओ नारायणगढ संजीव सिद्धु, एसएमओं शहजादपुर तरूण प्रसाद, सीडीपीओ सीमा सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।