गोविंद सिंह ठाकुर को शिक्षा मंत्री बनने पर बधाई: हिमाचल प्रशिक्षित बेरोजगार संघ
August 2nd, 2020 | Post by :- | 446 Views

प्रदेश प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने गोविंद ठाकुर जी को प्रदेश शिक्षा मंत्री का कार्यभार संभालने पर शुभकामनाएं दी तथा उम्मीद जताई है कि प्रदेश में टीजीटी बैच वाइज भर्ती जो लंबे समय से लंबित पड़ी है उस पर शीघ्र अति शीघ्र बेरोजगारों के पक्ष में फैसला लेंगे

लोकहित एक्सप्रेस हिमाचल:- प्रदेश प्रशिक्षित वेरोजगार अध्यापक संघ के प्रैस सचिव श्री प्रकाश चंद ने जारी प्रैस नोट में कहा कि संघ की आनलाइन मीटिंग हुई / वैठक में संघ के प्रदेशाध्यक्ष श्री कुलदीप सिंह मनकोटिया,वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय सिंह , महासचिव मनीष डोगरा, सचिव लेख राम, उपाध्यक्ष अजय रत्न व संजय राणा, मुख्य संगठन सचिव पुरषोत्तम दत्त, वित्त सचिव संजीव कुमार,संगठन सचिव यतेश शर्मा , हरिन्द्र पाल व सपना, आडिटर सुधीर शर्मा एवं रणयोध सिंह, जिलाध्यक्ष कांगड़ा निर्मल सिंह, जिलाध्यक्षा ऊना रजनी वाला, जिलाध्यक्ष विलासपुर किशोरी लाल एवं जिला उपाध्यक्ष मंडी सुरिंदर सिंह आदि ने अपने सांझा व्यान में कहा कि श्री गोविन्द सिंह ठाकुर जी का शिक्षा मंत्री वनने पर वेरोजगार संघ भव्य स्वागत करता है/सरकार ने प्रदेश के सभी पात्र उमीदवारों को समान अवसर देने के लिए तथा शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए नियमानुसार भर्ती नियम वनाऐ/ भर्ती नियमों के अनूसार नियमित शिक्षकों की भर्ती या तो कमिशन से हो सकती है या वैचवाईज प्रक्रिया के तहत हो सकती है/2006 से लेकर 2018 तक अस्थाई शिक्षिक स्टाप गैप अरेंजमेंट के नाम पर विना कमिशन विना वैचवाईज इस शर्त पर भर्ती किए गए थे कि जैसे ही नियमित शिक्षिक आऐगा वैसे ही अस्थायी शिक्षिकों की सेवाऐं अपने आप समाप्त हो जाएंगी/सरकार द्वारा नियमित शिक्षिक समय पर नहीं भेजने के कारण काफी उमीदवार ऐसे भी हैं जो पिछले 14 साल से शिक्षिक वन कर वैठे हैं लेकिन वे भर्ती के समय वी.एड नहीं थे/यह भी सच है कि इन अस्थाई शिक्षकों को 2006-2020 तक हुई सभी नियमित शिक्षकों की भर्तीयों में रोजगार के समान अवसर मिल चुके हैं/ लेकिन दुर्भाग्यवश वेरोजगारों को अस्थाई शिक्षकों की भर्तीयों में रोजगार के समान अवसर नहीं मिले जिसके कारण वेरोजगार पिछले 21 वर्ष से नौकरी का इंतजार कर रहे है और इनकी आयू 45 वर्ष होने वाली है/ज्ञात रहे इन भर्तीयों में एक भी भर्ती वैचवाईज नहीं हुई जिससे 1999-2005 वैच के सभी पात्र उमीदवार अभी भी वेरोजगार हैं/ वेरोजगारी के कारण इनकी संतान का मानसिक और आर्थिक उत्पीड़न भी हो रहा है /यदि भर्ती नियमों की कड़ाई से पालना होती तो वेरोजगारों के साथ ऐसा घोर अन्याय न होता/अव नए शिक्षा मंत्री जी से वेरोजगारों को आशा की किरण दिखाई दे रही कि वह उनकी समस्याओं का निराकरण करेंगे और इन अस्थाई शिक्षकों की भर्तीयों में प्रदेश के सभी पात्र उमीदवारों को नियमानुसार रोजगार के समान अवसर दिलवाएंगे/

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।