हवालात में बंद इनामी अपराधी विक्रम उर्फ पपला को फरार करवाने में सहयोग करने वाले गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार
September 10th, 2019 | Post by :- | 91 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । बहरोड़ थाने पर हमला एवं फायरिंग कर हवालात में बंद इनामी अपराधी विक्रम उर्फ पपला को फरार करवाने में सहयोग करने वाले गिरोह के तीन ओर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एवं एसओजी श्री अनिल पालीवाल ने बताया कि 6 सितंबर 2019 को थाना बहरोड़ से पपला उर्फ विक्रम गुर्जर को उसकी गैंग द्वारा थाने पर हमला व फायरिंग कर फरार करा लिया गया था। जिसका अनुसंधान एसओजी द्वारा किया जा रहा है। फरार कराने के षड्यंत्र में शामिल होने वाले विनोद स्वामी और कैलाश चंद को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है। प्रकरण के अनुसंधान में इस गैंग के तीन और अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। श्री पालीवाल ने बताया कि विक्रम उर्फ पपला को पुलिस हिरासत से फरार कराने के षड्यंत्र में शामिल खरोला थाना खैरथल अलवर निवासी जगन खटाना पुत्र बनवारीलाल खटाना (22) महिपाल पुत्र लेखराज (19) व तथा तरवाला थाना किशनगढ़ बास अलवर हाल खरोला थाना खैरथल निवासी सुभाष पुत्र भरत सिंह (21) को गिरफ्तार किया गया है। जिनसे अन्य मुलजिमो के बारे में गहनता से अनुसंधान किया जा रहा है। अन्य अभियुक्तों की सरगर्मी से तलाश जारी है। श्री पालीवाल ने बताया कि पपला उर्फ विक्रम गुर्जर पुत्र मनोहर लाल निवासी खारोली थाना महेंद्रगढ़ हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर है जिसके विरुद्ध हत्या अवैध हथियार के 8 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी पर हरियाणा पुलिस द्वारा 1 लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया हुआ है। पूर्व में 8 सितंबर 2017 को महेंद्रगढ़ न्यायालय से पपला उर्फ विक्रम गुर्जर को उसके साथी न्यायालय में फायरिंग करके हरियाणा पुलिस की गिरफ्त से भगा कर ले गए थे तभी से ये फरार चल रहा था। उन्होंने बताया कि 5-6 सितंबर 2019 की दरमियानी रात्रि थाना बहरोड़ पुलिस द्वारा विक्रम गुर्जर को एक स्कॉर्पियो व 31 लाख 90 हजार रुपये के साथ पकड़ा था। 6 सितंबर को प्रातः 9 बजे उसकी गैंग द्वारा थाने पर हमला व फायरिंग कर फरार करा लिया गया था।
———–

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।