आज लोकतंत्र खतरे में है -नंदिता हुड्डा।
July 29th, 2020 | Post by :- | 126 Views

पंचकूला।(मनीषा) आल इंडिया महिला कांग्रेस की सचिव नंदिता हुड्डा ने कहा है कि लोकतंत्र मनतंत्र से नहीं, जनतंत्र से चलता है। यह एक ऐसी शासन व्यवस्था है, जिसमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से लोगों का शासन है। शासन की अंतिम सत्ता लोगों के हाथ में होती है। जिसमें चुनाव का आधार सार्वभौमिक व्यस्क मताधिकार होता है। आज देश का लोकतंत्र खतरे में है। नंदिता हुड्डा ने कहा कि ऐसी सरकार जिसमें जनमत का नियंत्रण हो। लोकतंत्र एक व्यक्ति की मन की बात से नहीं, बल्कि सभी की भागीदारी से चलेगा। हमारे देश में लोकतांत्रिक प्रणाली है हम सभी जानते हैं, लेकिन बेहद दुखद है जो मजाक लोकतंत्र का इस सरकार के दौरान बनाया गया है वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। स्वतंत्र संस्थाएं सरकार के नतमस्तक होकर काम कर रही हैं। कोई भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है तो सबसे पहले तो वह राष्ट्र विरोधी कहलाता है। नंदिता हुड्डा ने कहा कि सीबीआई और ईडी जैसी एजेंसियों की छापेमारी उसके ठिकानों पर पडऩी शुरू हो जाती है। कई बार तो यह छापे राजनीतिक संकट के बीच हुए हैं जैसे राजस्थान इसका ताजा उदाहरण है, ऐसा लगता है मानव मानव अधिकारों का शोषण हो रहा हो। अब समय आ गया है जब देश के हर एक नागरिक को उसकी भागीदारी सिर्फ वोट देकर सरकार का चयन करने तक सीमित नहीं रखनी है, बल्कि अपना कर्तव्य निभाते हुए उससे आगे बढकऱ अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।