गौठान योजना के तहत छीनी जा रही आदीवासी असहाय वृद्ध महिला की जमीन
September 10th, 2019 | Post by :- | 385 Views

गौठान योजना के तहत छीनी जा रही आदीवासी असहाय वृद्ध महिला की जमीन

छत्तीसगढ़ (कांकेर) । छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा गरुआ घुरूवा बाड़ी के तहत चलाये जा रहे गौठान निर्माण कांकेर तहसील में अचानक से विवादों में आ गया है.

ताजा मामला कांकेर जिला मुख्यालय से महज़ 10 किलोमीटर की दूरी पर कांकेर जनपद के ही अंतर्गत आने वाले ग्राम इरादाह का है.

जहां पर जिस जमीन पर गौठान निर्माण का काम चल रहा है वह जमीन इसी ग्राम की एक वृद्ध – असहाय – विधवा 80 वर्षीय तीजया बाई जी है.

उक्त महिला आदीवासी भी है और उक्त भूमि का कब्जा तिजय बाई के पास पिछले 60  से 70 वर्षों से है.

अब गौठान निर्माण का कार्य जिस भूमि पर किया जा रहा है उसका खसरा नंबर 264 है.

 

जबकि उक्त खसरा नंबर पर अभी 2018 तक तिजया बाई के नाम था पर 2019 में उक्त नाम को हटा दिया गया.

जबकि उक्त निर्माणाधीन जमीन पर इस महिला द्वारा मेहनत करके वर्तमान में मक्के की फसल भी खड़ी किया है.

उक्त बुजुर्ग महिला अपने हक व अधिकार की लड़ाई लड़ते इसके विरोध स्वरूप आवेदन कांकेर ज़िले के कलेक्टर, सांसद व विधायक को दे चुकी हैं.

जब हमारे सहयोगी निपेन्द्र ठाकुर ने इस प्रकरण को लेके कांकेर ज़िला कलेक्टर से बात की तो कलेक्टर ने समस्त विषय पर जांच की बात कही है.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।