सदैव जनहित में नियम अनुसार कार्य कराऐ, राजनिति के चलते मुझे ब्रखास्त किया गया- रूबीना
July 27th, 2020 | Post by :- | 28 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।   हरियाणा शहरी निकाय विभाग के निदेशक द्वारा पुन्हाना नगरपालिका चैयरपर्सन को पदमुक्त करने के बाद पूर्व चैयरपर्सन रूबीना बेगम ने कहा कि लगाएं गए आरोप निराधार है केवल और केवल राजनिति पड़यंत्र के तहत कार्यवाही की गई है। जिन बिंदुओं को लेकर ब्रखास्त किया गया है वो सभी कार्य नियम अनुसार अनुमति व जनता की डिमांड को लेकर कराएं गए है उक्त बातें नपा पूर्व चैयरपर्सन रूबीना ने अपने कार्यालय पर पत्रकारवार्ता के दौरान कहीं। जिसमें उन्होंने कहा कि जो शिकायत विपक्षियों ने दी और जिसकी जांच पडताल खुद उपमंडल अधिकारी पुन्हाना ने की थी। ज्यों कि मेरे इनके अनुकुल थी। जिसमें उपमंडल अधिकारी ने भी हमें सही माना था। इसके बाद जो जांच अतिरिक्त उपायुक्त की गई थी वो धरातल पर नहीं थीं। ना ही किसी ने उसे देखा था। इसी दौरान रूबीना ने यह भी आरोप लगाया कि जिस दौरान मुझे बुलाया गया था उस दौरान डिलीवरी होने के कारण मेरा जाना नहीं हुआ लेकिन फिर भी अस्पताल में भर्ती के दौरान मेरे से पुछताछ की गई जो कि बिल्कुल गलत है। यह केवल राजनिति के चलते यह कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले के खिलाफ पुरे हरियाणा के नगरपालिका और नगर परिषद के चेयरपर्सनस ने इस कार्यवाही को गलत ठहराते हुए रोष व्यापत हैं। जिसमें सभी ने एकमत होकर फैसला लिया कि सरकार आठ दिन मे पुन्हाना नगरपालिका चेयरपर्सन को बहाल करे अगर बहाल नही करती है तो पुरे हरियाणा की नगरपालिकाओं को बंद कर दिया जायेगा। इसे के साथ सभी नगरपालिका और नगर परिषद के चेयर पर्सनस ने करनाल के सांसद संजय कटारिया को ज्ञापन भी दिया है उन्होंने सरकार से अपील की मामले की जमीनी स्तर पर जांच कर दूवारा से बाहाली कीजाएं। इस मौके पर सद्दीक हूसैन, हारून, जानू, पूर्व मैम्बर दिनमौहम्मद, सममी, इरशाद, प्रार्षद दिनू, हूसैना सरपंच, सफी सरपंच, आजाद मौहम्मद, सहित गणमान्य लोग मौजूद थे।
कौन-कौन से कार्य के खिलाफ कार्यवाही हुई
1. उन्होंने कहा मुबारिक चैपाल का निर्माण वर्ष 2010 में प्रशासन के द्वारा डी-प्लान के तहत कराया गया था। जिसमें चैयरपर्सन की कोई भूमिका नहीं है।
2. युपी कैनाल पर जो सडक बनाई गई है वो युपी नहरी विभाग से इजाजत लेकर बनाई गई थी। उसी सडक पर प्रसाशन ने भी 2018-19 में काम कराया हुआ हैं।
3. अम्बेडकर पार्क का निर्माण 30 वर्ष पूराना है जिसे पंचायत द्वारा बनाया गया था। और प्रशासन ने समय समय पर रखरखाव के लिए उसपर पैसे भी खर्च किए थे। पार्क के साथ डी-प्लान के तहत चैपाल का निर्माण भी कराय गया था। तभी से ही पंचायत इसके रख रखाव पर पैसे खर्च करती आ रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।