प्रदेश में संपत्तियों की रजिस्ट्रियों में कोरोड़ रुपए घोटाले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए – बजरंग गर्ग
July 27th, 2020 | Post by :- | 31 Views

पंचकूला।(मनीषा) हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता बजरंग गर्ग ने कहा कि प्रदेश में संपत्तियों की रजिस्ट्रियों में करोड़ों रुपए घोटाले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। ताकि घोटाले की सारी सच्चाई जनता के सामने आ सके। जबकि सरकार ने 17 अगस्त तक प्रदेश में सभी तहसीलों में रजिस्ट्रियों पर रोक लगा दी है। मुख्य प्रवक्ता बजरंग गर्ग ने कहा कि रजिस्ट्रियों में सेवा शुल्क लेना का काम काफी सालों से चल रहा है। यहां तक की प्राइवेट कॉलोनियों में प्लाटों की रजिस्ट्रियॉं कराने के नाम पर तहसीलों में  मोटी रकम कॉलोनाइजर से वसूली जा रही है। यहां तक कि इस काम में काफी दलाल रजिस्ट्रियां कराने के लिए सरकारी अधिकारियों ने छोड़ रखे हैं। मुख्य प्रवक्ता बजरंग गर्ग ने कहा कि रजिस्ट्री घोटाले में जो भी सरकारी अधिकारी दोषी है। उसके खिलाफ सरकार को सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। बजरंग गर्ग ने कहा कि प्रदेश में यह कोई पहला घोटाला नहीं इससे पहले करोड़ों रुपए का शराब घोटाला, खनन घोटाला, सरसों घोटाला आदि अनेकों घोटाले इस राज में हो चुके हैं। यह सब घोटाले सरकारी संरक्षक में उच्च अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहे हैं। यहां तक की नहर व जमीनों को खोद खोद कर करोड़ों अरबों रुपए की रेत निकाल कर सरकारी अधिकारियों से मिलीभगत करके रेत माफिया ने बेच दी है और आज भी खनन घोटाले का खेल जारी है। यह सब काम सरकार की नाक के नीचे हो रहा है। मगर सरकार खनन माफिया को पकडऩे की बजाई यह सब तमाशा आंख मूंद कर देख रही है। जबकि खनन माफिया करोड़ों-अरबों रुपए की रॉयल्टी व टैक्स का चूना सरकार को लगाकर अपना घर भरने में लगे हुए है। सरकार को घोटाले में शामिल सभी लोगों से घोटाले के रुपए की रिकवरी करनी चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।