हरियाणा पुलिस अकादमी में दीक्षांत परेड में 400 प्रोबेशनर सब इंस्पेक्टर ने ली सेवा की शपथ।
July 26th, 2020 | Post by :- | 35 Views

पंचकूला।(मनीषा)  हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन में 400 प्रोबेशनर सब इंस्पेक्टर बेसिक ट्रेनिंग पूरी करने के बाद जनसेवा को समर्पित हुए। इस अवसर पर दीक्षांत परेड का आयोजन हुआ। हरियाणा के माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मुख्य अतिथि के रूप में इस दीक्षांत परेड की सलामी ली। हरियाणा के पुलिस महानिदेशक मनोज यादव व अन्य गणमान्य अतिथि भी इस अवसर पर उपस्थित रहे। दीक्षांत समारोह में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस की सार्थकता, सेवा को सर्वोच्च उद्देश्य मान कर कार्य करने से संभव है। इसलिए पुलिस को समाज की सेवा का सर्वोत्तम अवसर मानते हुए अपनी ड्यूटी पर आगे बढ़ते रहना चाहिए। परेड में शामिल जवानों के आदरणीय माता-पिता को बधाई देता हँू जिनके बच्चों ने पुलिस विभाग के रूप में एक ऐसे चुनौती भरे रास्ते का चयन किया है जो व्यवसाय नहीं बल्कि सेवा के रूप में जाना जाता है। दीक्षांत परेड समारोह किसी भी वर्दीधारी के लिए बहुत गौरव के क्षण होते हैं। उन्होंने इस वैश्विक कोरोना महामारी काल जैसी विपरीत परिस्थितियों में भी प्रशिक्षण को पूरा करने में योगदान देने वाले अधिकारियों तथा प्रशिक्षकों की सराहना की। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार महिलाओं की सुरक्षा व देखभाल के लिए तत्पर है। हमने महिला थाने शुरू किये तो पीडि़त महिलाओं को अपनी छोटी-बड़ी समस्याओं को बताने के लिए स्थान मिला है। बेटियों की शिक्षा तथा सुरक्षा के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आने से पहले प्रदेश में दो महिला थाने थे जिनकी संख्या अब 31 हो गई है। महिला सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति वाहिनी तथा दुर्गा शक्ति ऐप जैसी सुविधाएं प्रदान की है। उन्होंने कहा कि 56 बेटियां आज इस दीक्षांत समारोह में शामिल हैं। पहले हरियाणा प्रदेश नौकरियों में 3 प्रतिशत ही बेटियां शामिल थी लेकिन हमारी सरकार आने उपरांत हमने इसे 6 प्रतिशत किया जिसे बाद में 10 प्रतिशत तक पंहुचाया गया और अब हमारा लक्ष्य 15 प्रतिशत तक पंहुचाने का है। इस दीक्षांत परेड में प्रतिशत 14 प्रतिशत महिला शामिल है। आज की इस दीक्षांत परेड में हरियाणा की बेटियों ने भी प्रदेश की कानून व्यवस्था संभालने की शपथ ली है इस पर उन्हें गर्व है। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस ने संकट की घड़ी में भी धैर्य एवं साहस का परिचय देते हुए अपने समाजसेवा के कर्तव्य को बाखूबी निभाया है। कोविड-19 के दौरान पुलिस के जवानों ने कोरोना वारियर्स बनकर नया मोर्चा संभाला है। उन्होंने कोविड-19 जैसी वेश्विक महामारी में हरियाणा पुलिस द्वारा अपनी डयूटी को कर्तव्यपरायणता से निभाने कीप्रशंसा की। वर्तमान में हरियाणा पुलिस में आधुनिकीकरण के तहत नई तकनीकों को शामिल किया गया है। माडर्न पुलिस स्टेशन व 6 साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन बनाएं गए हैं। न्यायवैधिक विज्ञान प्रयोगशाला में बारकोड सिस्टम लागू किया गया है। उन्होंने कहा कि विकास के दौर में सामाजिक एवं आर्थिक परिवर्तन हो रहे हैं। जिनमें पुलिस की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। उन्होंने जवानों को दीक्षांत समारोह में ली गई शपथ के एक-एक शब्द को अपने पेशेवर जीवन में अमल लाने का आह्वान किया। उन्होंने दीक्षांत परेड में शामिल जवानों को कहा कि अपनी चारदीवारी के परिवार को ही परिवार न समझे बल्कि पूरे हरियाणा को अपना परिवार मानें और एक दीक्षित सैनिक के नाते सेवा करें। मुख्यातिथि ने कहा कि हरियाणा पुलिस के जवान कंधे पर एचपी का बैज लगाते हैं इसे केवल हरियाणा पुलिस न समझकर इसका अर्थ हरियाणा पब्लिक मान कर ड्यूटी करेंगे तो जन सेवा के नय सोपान तय करेंगें। उन्होंने दीक्षांत समारोह में शामिल सभी जवानों व उनके परिवारजनों को बधाई दी। मुख्यातिथि ने प्रशिक्षण में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय रहे प्रोबेशनर सबइंस्पेक्टर संदीप कुमाार, साहिल कुमार, सूरज कुमार तथा महिलाओं में श्रेष्ठ रही प्रोबेशनर सबइंस्पेक्टर रेखा को प्रथम श्रेणी प्रशंसापत्र व नगद पुरूस्कार प्रदान किये। पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने मुख्य अतिथि, अन्य गणमान्य अतिथिगण तथा पासआऊट हो रहे जवानों के परिवारजनों का स्वागत किया। पुलिस महानिदेशक ने मुख्यातिथि को स्मृतिचिन्ह भेंट किया। इस मौके विभिन्न विभागों अधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।