प्राधिकरण के तत्वावधान में कानूनी जागरूकता शिविर के माध्यम से मास्क और सेनिटाइजर वितरण के साथ-साथ ग्रामीणों को सिखाये कोरोना महामारी से बचाव के गुर
July 25th, 2020 | Post by :- | 112 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 25 जुलाई :- जिला विधिक सेवाएँ प्राधिकरण के तत्वावधान में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एंव चेयरमेन चंद्रशेखर व मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एंव सचिव पीयूष शर्मा के मार्गदर्शन में आज गांव आदुपुर(यादुपुर) पलवल में विशेष कानूनी जागरूकता शिविर के माध्यम से मास्क व सेनिटाइजर वितरण कार्यक्रम का आयोजन पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत द्वारा किया गया ।

शिविर में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत ने कोरोना महामारी से बचाव के लिए ग्रामीणों को निशुल्क मास्क वितरित किये और उन्हें मास्क व सेनिटाइजर के उचित प्रयोग व महत्व के बारे में भी व्यवहारिक तौर पर जागरूक किया। उन्होंने शिविर के माध्यम से बच्चों, बुजुर्गों, महिलाओं, पंचायत प्रतिनिधियों को मास्क निशुल्क वितरित किए। उन्होंने कोविड-19 कोरोना महामारी की रोकथाम के उपायों, जारी सरकारी निर्देशों के बारे में जागरूक किया। उन्होंने कहा कि कि जब लॉकडाउन चल रहा था तो संक्रमित मामले बहुत कम थे और सभी लोग घरों में थे, जिसके परिणामस्वरूप सामाजिक दूरी बरकरार थी और हम सुरक्षित रहे। लेकिन जब से लॉकडाउन को सशर्त खोला गया है, लोग अपने कामकाज और दैनिक कार्यों के लिये घरों से निकलकर कार्यरत हैं।

लोगों द्वारा सरकारी नियमों के उल्लंघन की वज़ह से अब कोरोना महामारी फैलने का खतरा ज्यादा बन गया है। लोग घरों से बाहर बिना मास्क के घूम रहे हैं जिसके कारण पुलिस को लोगों को समझाने के लिए काफ़ी मशक्कत करनी पड रही है। आज हम सभी का देश और समाज के प्रति जिम्मेदारी बनती है कि हम सभी मिलकर सरकारी नियमों का पालन करें और नियमों की पालना के लिए लोगों को भी जागरूक करें, ताकि हम इस महामारी को अपने देश से जड से खत्म कर सकें। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि हमें बार-बार साबुन से हाथ साफ करने, सामाजिक दूरी बनाए रखने, हुक्का सांझा ना करने, ताश ना खेलने, बाहर निकलने पर मास्क का प्रयोग, बच्चे, बुजुर्गों व गर्भवती महिलाओं को चिकित्सीय कारण को छोडकर घर से बाहर निकलने पर पाबंदी, सब्जी, फलों इत्यादि को गर्म नमक के पानी से धोने के बाद प्रयोग, परचून सामान को सेनिटाइज करने, खुले में ना थूकने, गुटखा व धूम्रपान का सेवन ना करने, सब्जी व अन्य आवश्यक सामग्री खरीदने के समय सामजिक दूरी व बच्चों को साथ ना रखने क्योंकि बच्चे इधर-उधर हाथ लगाते हैं|

जिससे संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा रहता है, आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने, आवश्यक कार्य हेतु ही बाहर निकलने, किसी अनजान व्यक्ति को देखते ही या दूसरे राज्य या विदेश से आने वालों की सूचना प्रशासन को देने, बाजार या कार्यालय से वापस घर आने पर गर्म पानी से नहाने और कपडों को धोने, मोबाइल और गाड़ी की चाबी या चूल्हे के पास सेनिटाइजर का प्रयोग ना करने, अपने गांव, मोहल्ले या कालोनी में किसी भी संक्रमित या बीमार से घृणा या भेदभाव ना करने, अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए सात्विक भोजन,  नियमित योगा, गर्म पानी पीना चाहिये, उक्त नियमों और व्यवहार का पालन करने, हम कोरोना के संक्रमण से बच  सकते है या कोरोना फैलने की संभावना को रोक सकते हैं.|

इसके अलावा उन्होंने सरकारी कल्याणकारी योजनाओं व आपात वित्तीय सहायता योजनाओं के बारे में भी जागरूक किया। उन्होंने प्राधिकरण की सेवाओं सहित हेल्पलाइन नंबर 01275 298003 के बारे में भी जानकारी प्रदान की । कोई भी जरूरतमंद प्राधिकरण की हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करके मुफ़्त कानूनी सहायता प्राप्त कर सकता है। शिविर में सरपंच विरेंद्र सिंह सहित पंचायत प्रतिनिधियों व गांव के गणमान्य ग्रामीणों ने भी सराहनीय सहभागिता की।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।