प्रदेश सरकार ने किया कालका में केवल गड्ढो का विकास: प्रदीप चौधरी
July 25th, 2020 | Post by :- | 20 Views

कालका, (हरपाल सिंह) : प्रदेश सरकार वैसे तो विकास के बड़े-बड़े दावे करती है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। गठबधंन सरकार के राज में कालका क्षेत्र की अधिकांश सडक़ें बद्तर हालात में पहुंच चूकी है। मौजूदा सरकार के राज में केवल सडक़ो पर बने गड्ढो का विकास हुआ है। जो गड्ढे पहले छोटे थे अब वह विकराल रूप ले चूके हैं और कई जगह तो सडक़ खस्तहाल हो चूकी है । उक्त शब्द कालका विधनसभा से कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी ने कहे। कहा कि कालका सब्जी मंडी की और जाने वाली सडक़ पर तो लोगो का स्वागत ही गड्ढो से होता है। तंज कसते हुए चौधरी ने कहा कि इस सडक़ पर बहती विकास की गंगा को पार कर हर राहगीर खुद को पुण्य का भागी समझता है। इतना ही नहीं गावों के साथ लगते सम्पर्क मार्ग से तो वाहनो सहित निकलने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है ऐसे में आप समझ सकते है कि पैदल राहगीर को कितनी मशक्कत करनी पड़ती होगी।

चौधरी ने कहा कि हाल ही में कालका कि मुख्य सडक़ो पर पैच वर्क का कार्य कर खानापूर्ति तो कर दी गई लेकिन बरसात के चलते सडक़ पर हुआ पेचवर्क कई जगह से उखडऩे लगा है। इतना ही नही कालका एसडीएम कार्यालय से सामने से गांधी लाइब्रेरी तक जा रही सडक़ जिसकी कुछ माह पहले मुरम्मत भी करवाई गई थी, लेकिन अभी भी उक्त सडक़ पर काफी मैटेंनेस वर्क होना बाकि है सडक़ की हालत यह है कि उबड़-खाबड़ होने की वजह से वाहन यहां हिचकोले खाने लगता है। इतना ही नही लाखो की लागत से बनाई गई रेलवे रोड की सडक़ कई जगह से उखडऩे भी लगी है।

चौधरी ने कहा कि काली माता मंदिर से परवाणू की और जा रही सडक़ भी खस्ताहाल हो चूकी है जिस और सरकार और प्रशासन का ध्यान नही है। उन्होने कहा कि मौली से भूरेवाला की सडक़ निर्माण कार्य रूका होने के कारण वहां के लोगो को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। चौधरी ने कहा एक तरफ तो गठबंधन सरकार के उप मुख्यमंत्री प्लास्टिक के कचरे से कम लागत में मजबूत सडक़ बनाने की बातें कर रहे हैं वहीं दूसरी और जो सडक़े पहले से ही खस्ताहाल है उनकी कोई सुध तक नही ले रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।