सरकार की नियत में फर्क होने के कारण हालात जस के तस-चौधरी।
July 22nd, 2020 | Post by :- | 14 Views

पंचकूला।(मनीषा)  प्रदेश सरकार कालका क्षेत्र में पार्किंग की समस्या के समाधान को लेकर गंभीर  नही है, जिसके चलते कालका-पिंजौर में जाम की स्थिती बनी रहती है। उक्त शब्द कालका विधानसभा से कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी ने कहे। चौधरी ने कहा कि एक तो पहले ही वैश्विक बिमारी कोरोना के चलते व्यापारियों का काम प्रभावित हो रहा है ऊपर से शहर में पार्किंग की व्यवस्था न होने के कारण ग्राहक को अपनी गाड़ी खड़ी करने में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है ऐसे में यदि सामान लेने के लिए ग्राहक कहीं वाहन खड़ा कर देता है तो ट्रेफिक पुलिस उसका चालान काट देती है जिसके चलते  ग्राहक को तो नुकसान होता ही है, साथ ही दुकानदार की भी ग्राहकी प्रभावित होती है। चौधरी ने कहा कि कालका-पिंजौर में मल्टीलेवल पार्किंग की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि कालका रेलवे रोड़ पर तहसील व अबेंडकर भवन के बीच खाली पड़ी जगह व एसीपी कार्यालय में पार्किंग बनाने को लेकर उन्होने निगम के उच्चाधिकारीयों से भी मांग की थी लेकिन सरकार की कथनी और करनी में अंतर के चलते कोई हल न निकल सका। चौधरी ने कहा कि पिछले लंबे समय से काली माता मंदिर की पार्किंग का मुद्दा भी अधर में लटका पड़ा है जिसके चलते मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उन्होने कहा कि  मौजूदा सरकार के केन्द्रीय मंत्रियों से लेकर प्रदेश स्तर तक के नेता काली माता मंदिर में शीश नवा चूके हैं, और मुख्यमंत्री भी कई बार यहां माथा टेकने के साथ पार्किंग के लिए जगहों का भी मुआइना कर चूके हैं लेकिन  पार्किंग कब बनेगी इस पर कोई स्पष्ट जवाब अभी तक सामने नही आया है। उन्होने कहा कि वह विधानसभा में भी शहर की पार्किगं के मुद्दे को लेकर  आवाज उठाते रहे हैं पर सरकार की नीति और नियत में फर्क होने के कारण हालात जस के तस बने हुए है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।