तीन दुकानदारों के कोरोना की अफवाह से मचा हड़कंप।
July 22nd, 2020 | Post by :- | 14 Views

पंचकूला।(मनीषा)  सेक्टर 9 की मार्केट में तीन दुकानदारों की कोरोना पॉजिटिव की झूठी अफवाह फैलाने पर दुकानदारों ने पुलिस को शिकायत दे दी है। मार्केट एसोसिएशन के प्रधान सुरेंद्र बंसल ने बताया कि मैसेज वायरल होने से दुकानदारों में डर का माहौल पैदा हो गया था। यह मैसेज किसी ने साजिश के तहत वायरल करवाया, क्योंकि यहां पर लोगों की दुकानें अच्छी चलती है। इसलिये पुलिस को शिकायत को झूठे मेसेज वायरल करने पर केस दर्ज करने की मांग की है। दुकानदार अनिल गर्ग, पुनित मित्तल एवं प्रवीण कुमार ने पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। सीनियर सिटीजन कौंसिल के प्रधान आरके मल्होत्रा ने जिला प्रशासन व पुलिस विभाग से मांग की है कि कोरोना संक्रमण से संबंधित सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। क्योंकि ना केवल इसे पैनिक और भय का माहौल बनता है, बल्कि इससे दहशत के वातावरण में दिन-प्रतिदिन की रोजमर्रा की वस्तुओं की खरीदारी के लिए लोग बाजार में जाने से डर रहे हैं। आरपी मल्होत्रा और कौंसिल के मीडिया प्रभारी भारत हितैषी ने बताया कि बीते सोमवार शाम से एक व्हाट्सएप मैसेज लगातार वायरल हो रहा था कि सेक्टर 9 की मार्केट में बालाजी डिपार्टमेंटल स्टोर, चिल्ली चार्ट एवं गर्ग क्रोकरी स्टोर में कोरोना पोजिटिव पाए गए हैं, इसलिए सेक्टर 9 की मार्केट में जाने से परहेज करें। इस मैसेज से आसपास के सभी सेक्टरों में हडक़ंप मच गया, लेकिन पता करने पर जानकारी मिली कि इन तीनों दुकानदारों के परिवार में से किसी को संक्रमण नहीं है। मल्होत्रा व हितैषी ने आगे बताया कि इसी तरह से 20 जुलाई सोमवार को सिविल सर्जन पंचकूला द्वारा कोरोना संक्रमितों की जारी लिस्ट में सेक्टर 8 के मकान नंबर 464 में 50 वर्षीय एक महिला के कोरोना संक्रमण दिखाया गया है, जबकि 464 के किसी निवासी में ऐसे मरीज होने से इनकार कर दिया गया। इसी तरह सेक्टर 8 के मकान नंबर 727 में नेफ्रोलॉजी के डॉक्टर अजय गोयल ने बताया कि उनके कोरोना संक्रमण की झूठी अफवाह फैलाई जा रही है, जोकि पूरी तरह बेबुनियाद है एवं जिला प्रशासन से मांग की है कि सोशल मीडिया पर इन अफवाहों पर रोक लगाने के लिए रोजाना कोरोना संक्रमितों की सूचना के लिए बुलेटिन अखबारों में दिया जाए और झूठी अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।