कुरुक्षेत्र पुलिस की अपराध शाख-2 ने पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से गोली चलाकर भागने का प्रयास करने के दो अन्तर्राज्यीय बदमाशों को काबू करने में सफलता हासिल की ।
July 21st, 2020 | Post by :- | 246 Views

कुरुक्षेत्र ।ज़िला पुलिस की अपराध शाख-2 ने पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से गोली चलाकर भागने का प्रयास करने के दो अन्तर्राज्यीय बदमाश देवेन्द्र कुमार उर्फ चावला वासी हाँसी व अमरजीत उर्फ टोपी वासी पेहवा को गिरफतार करके उनके कब्जे से 32 बोर, 30 बोर व 315 बोर की 3 नाजायज पिस्टल, 1 देशी कटटा, 5 मैगजीन तथा 13 जिन्दा कारतूस बरामद करने में सफलता हासिल की है।

यह जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक, कुरूक्षेत्र श्रीमति आस्था मोदी ने बताया कि संगीन मामलों के अपराधियों की धर-पकड़ के लिए अपराध शाखा-1 व 2 की सयुक्त टीम बनाई हुई है। गत दिवस अपराध शाखा-2 के उप निरीक्षक जीत सिंह, स.उ.नि सतविन्द्र सिहं, सिपाही मनोज कुमार, हवलदार रणदीप कुमार और चालक हवलदार बलविन्द्र कुमार की टीम सैक्टर-30 कुरुक्षेत्र पर मौजुद थी। पुलिस टीम को गुप्त सूचना मिली की देवेन्द्र कुमार उर्फ चावला वासी हाँसी व अमरजीत उर्फ टोपी उर्फ रिन्कु वासी पेहवा जो कि डकैती, लूट-पाट, हत्या, हत्या का प्रयाय करने की दर्जनों वारदातों को अन्जाम देने के आरोपी है। वह इस समय ईटोस कार न0 एचआर 05 आर-7694 में सवार हो कर उमरी चैंक कुरूक्षेत्र की तरफ से आ रहे है। जिस सूचना के आधार पर पुलिस ने उमरी चैंक पर नाकाबंदी शुरू कर दी। कुछ देर बाद पुलिस ने एक गाड़ी को उमरी चैंक की तरफ से आते हुए देखा। जिसको पुलिस ने रुकने का ईशारा किया। कार में दो लड़के सवार थे। जिन्होनें सामने पुलिस को खडा देख कर गाडी को थोड़ा धीरे किया और गाडी में साईड की सीट पर बैठे लड़के ने एकदम अपनी पिस्टल निकालकर पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से गोली चला दी। पुलिस टीम उनकी मन्सा को भांप कर एक दम निचे झुकी। आरोपी मौके का फायदा उठा कर वहां से भाग गये।

पुलिस टीम ने इस की सूचना तुरन्त पुलिस कन्ट्रोल रूम कुरूक्षेत्र व सभी प्रबन्धक थाना को वायरलैस सैट के द्वारा दी गई। जिस सूचना पर अपराध शाखा-2 के उप निरीक्षक सरणजीत सिंह, हवलदार लखन सिंह, ललित कुमार, प्रवेश कुमार, सतनाम सिंह, सिपाही महेश कुमार गाड़ी सरकारी जिसका चालक उप निरीक्षक कृपाल सिंह ने तत्परता से कार्यवाही करते हुए आरोपियों को काबू करने का प्रयास किया। आरोपी पुलिस पर गोली चलाने के बाद सैक्टर-8 कुरूक्षेत्र के काॅमनिटी सैन्टर की तरफ भागने लगे। जिनकी गाड़ी अचानक सड़क में धस गई। जिनकों उप निरीक्षक सरणजीत सिंह की टीम ने काबू कर लिया। इसी दौरान उप निरीक्षक जीत सिंह की टीम भी मौके पर पहुंच गई। जिनकी तलाशी लेने पर उनके कब्जे से 32 बोर, 30 बोर व 315 बोर की 3 नाजायज पिस्टल, 1 देशी कटटा, 5 मैगजीन तथा 13 जिन्दा कारतूस बरामद हुए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को काबू करके थाना सदर थानेसर में जान से मारने की नियत से फायर करने और आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज करके गिरफतार कर लिया है। पुलिस द्वारा गहनता से जांच करने पर पाया गया कि देवेन्द्र उर्फ चावला पर अम्बाला, चण्डीगढ़, कुरूक्षेत्र, हांसी, हिसार, जीन्द, भिवानी तथा रोहतक में हत्या, हत्या का प्रयास, लूट व डकैती के करीब दो दर्जन मामले दर्ज है। जिनमें इसकों पहले भी पुलिस द्वारा गिरफतार किया जा चुका है। देवेन्द्र चावला व अमरजीत उर्फ टोपी उर्फ रिन्कू व उसके अन्य साथियों पर जिला अम्बाला में लूटपाट, डकैती व असला अधिनियम के तहत 3 मामले दर्ज है। देवेन्द्र चावला के खिलाफ हत्या के 6 मामले दर्ज है। जिनमें चण्डीगढ़ में डकैती के 2 मामले, जिला कुरूक्षेत्र में लुटपाट, हत्या का प्रयास के 2 मामले, जिला भिवानी में ऐक्सीडेन्ट व मारपीट के 2 मामले, जिला रोहतक मे चोरी का एक मामला, जिला हांसी में हत्या, जेल अधिनियम, मारपीट व फिरौती मांगने आदि के करीब 11 मामले व हिसार में हत्या, हत्या का प्रयास के करीब 3 मामले और दिनांक 2 जून 2020 को उसने सैक्टर-9 चण्डीगढ़ में एक शराब के ठेकेदार के करिन्द्र को जान से मारने की नियत से उस पर गोली चल कर मौके से भाग गये थे। दिनांक 31 मई 2020 को देवेन्द्र चावला ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिल कर सैक्टर-33 चण्डीगढ में गोली चला कर मौके से फरार हो गये थे। जिस पर साउथ सैक्टर चण्डीगढ़ में एक मामला दर्ज है।
गौरतलब है कि दिनांक 21 फरवरी 2020 को कुरुक्षेत्र के रेडीमेड कपडे के दुकानदार राकेश कुमार शर्मा पुत्र हंस राज का रास्ता रोककर उस पर जानलेवा हमला करके कार छीनने के प्रयास करने के आरोप में अमित उर्फ शूटर पुत्र रणजीत सिंह वासी तंगौर थाना शाहबाद को गिरफतार किया था। जिसने पूछताछ के दौरान स्वीकार किया था कि इस वारदात का मुख्य सरगना देवेन्द्र चावला है। जिसने यह भी स्वीकार किया था कि उन्होनें लघु सचिवालय के नजदीक एक करेटा कार सवार पर गोली चला कर रिवाल्वर की नौक पर कार छीनने का प्रयास किया था। जिसमें वह कामयाब नही हो सके थे। रेडीमेड कपडे का दुकानदार लघु सचिवालय के नजदीक अपनी गाडी को साईड में रोक कर पेशाब कर रहा था उसी दौरान हम लोगों ने उसकी गाड़ी की चाबी छिनने का प्रयास किया था। जिसके विरोध करने पर उन्होंने उसकी टांग में दो गोली मारी थी। काफी शोर होने के बाद वह वहां से भाग गये थे।

अपराध शाखा-2 ने दिनांक 11 मार्च 2020 को गुप्त सूचना के आधार पर अमित उर्फ शूटर पुत्र रणजीत सिंह वासी तंगौर थाना शाहबाद को गाँव तंगौर थाना शाहबाद से गिरफतार किया था। जिसने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया था कि उन्होनें महादेव नाम से एक ग्रुप भी बनाया हुआ है। वर्ष 2019 में उसकी मुलाकात देवेन्द्र चावला से सैन्ट्रल जेल अम्बाला में हुई थी। उस समय वह कस्बा शाह से अपहरण के एक मामले में सजा काट रहा था। अपहरण के केश में उसकी जनवरी 2020 उसकी जमानत हो गई थी। 21 फरवरी 2020 को देवेन्द्र चावला तीन अन्य लड़कों के साथ उसके घर आया। जिन्होंने बताया कि उन्होंने किसी वारदात को अंजाम देना है उसके लिए उनको गाड़ी की जरुरत है। उन्होनें अमित उर्फ शूटर के खेतों में कार छीनने की एक योजना बनाई। इस योजना में देवेन्द्र चावला ने उसको एक देशी कट्टा व तीन रौंद भी दिए थे और कहा था कि कार चालक को इस देशी कटटे से डरा देना, जरुरत पडी तो फायर भी कर देना। वह उनके खेतों से योजना बनाकर जी टी रोड से होते हुए पीपली आ गए। देवेन्द्र चावला ने उसको कहा कि गाडी को सेक्टर में घुमा लेते है कोई ना कोई कुछ खाते पीते मिल जायेगा। यह सोचकर वे सभी अपनी कार में जिंदल चैंक होते हुए 100 रोड पर आ रहे थे कि एक व्यक्ति अपनी क्रेटा कार रोककर पेशाब कर रहा था। जिससे देवेन्द्र चावला ने सेक्टर-7 का रास्ता पूछा तो उसने सेक्टर-7 का रास्ता बता दिया जैसे ही वह व्यक्ति अपनी गाडी में बैठने लगा तो देवेन्द्र चावला ने उसकी गाडी की खिड़की खोल ली और उसकी कार की चाबी छिनने लगा जिसका उस गाडी के मालिक ने जबरदस्त विरोध किया जिसको देखकर उनके अन्य साथी भी आ गये। हमने उसके विरोध करने पर उसकी टांगों में गोलियां मारी उसने शौर करना शुरू कर दिया। उसके शौर मचाने से हम सभी अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सके और मौका से फरार हो गए थे। उसके बाद वे सभी जोध पुर राजस्थान चले गए थे। जिसमें पुलिस ने आरोपी अमित उर्फ शुटर को माननीय अदालत में पेश करके माननीय अदालत के आदेशानुसार कारागार भेज दिया था। महादेव ग्रुप के सरगना देवेन्द्र चावला व उसके अन्य साथी फरार चले आ रहे थे। देवेन्द्र चावला में अपने साथ अमरजीत उर्फ टोपी उर्फ रिन्कू को भी अपनी गैंग में शामिल कर लिया था। अमरजीत उर्फ टोपी उर्फ रिन्कू पर जिला कुरूक्षेत्र में हत्या, हत्या का प्रयास, मारपीट, चोरी आदि के करीब 15 मामले दर्ज है। इसके ईलावा अमरजीत पर जिला जीन्द में भी हत्या का मामला दर्ज है। दोनों आरोपियों को माननीय अदालत में पेश करके आगामी जांच हेतु पुलिस रिमाण्ड पर लिया जाएगा। ताकि उनसे गहनता से पूछताछ की जा सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।