फूल-मेवे व लाइटिंग के झूले में विराजे भगवान स्वामी नारायण
July 19th, 2020 | Post by :- | 32 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता) बंगाली घाट स्थित स्वामी नारायण मंदिर में झूलोत्सव की शुरुआत कामिका एकादशी से हो गई। रविवार को भी भक्तों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए फूल-मेवे व लाइटिंग के झूले में विराजमान अपने आराध्य के दर्शन किए। देर शाम तक दर्शन-पूजन का सिलसिला चलता रहा।
सावन माह के अंतर्गत मंदिर में नित नए झूले डाले जा रहे हैं। रविवार को भी पूरे मंदिर परिसर को फूल व रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया था। भक्तों ने सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा शाम को 4 बजे से 8 बजे तक मंदिर में ठाकुर जी की इस नयनाभिराम झांकी के दर्शन किए। मंदिर के महंत वीपी स्वामी ने बताया कि प्रतिवर्ष यह उत्सव मनाया जाता है। इस वर्ष 20 दिवसीय इस झूलोत्सव कि शुरुआत 16 जुलाई को कामिका एकादशी से हुई थी जिसका समापन रक्षाबंधन के बाद दौज को होगा। इस दौरान विभिन्न प्रकार के झूले बनाए जा रहे हैं। कार्यक्रम में स्वामी भानु प्रसाद, कोठारी अनिल भगत, कृष्णा भगत, पुजारी अमन भगत आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।