के.डी. पर शनिवार को स्वस्थ होने वालों का संख्या डेढ़ सौ के पार
July 18th, 2020 | Post by :- | 31 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता)  चिकित्सक हो या चिकित्सालय समाज विश्वास उसी का करता है जिसमें पीड़ित की पीड़ा हरने की लालसा हो। के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर कोरोना संक्रमित लोगों के लिए किसी मंदिर से कम नहीं है। यहां की बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं और चिकित्सा से जुड़े निडर कर्मवीरों के अथक प्रयासों से शनिवार रात नौ बजे तक डेढ़ सौ से अधिक कोरोना संक्रमित स्वस्थ होकर अपने-अपने घर लौट चुके हैं। कोरोना संक्रमण के खिलाफ विजय हासिल करने वालों में पांच माह के नौनिहाल से लेकर लगभग 90 साल के वृद्ध तक शामिल हैं।

कोविड सेण्टर इंचार्ज डा. गौरव सिंह का कहना है कि बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाओं और सुयोग्य चिकित्सकों के प्रयासों से ही के.डी. हास्पिटल के कोविड सेण्टर से लगातार लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं। के.डी. हास्पिटल से स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे लोग यहां की आधुनिकतम स्वास्थ्य सुविधाएं, खान-पान तथा डाक्टर्स, नर्सेज और पैरामेडिकल स्टाफ के सेवाभाव की तारीफ करते हुए ही घर जाते हैं। यहां से स्वस्थ होकर गए प्रशासनिक अधिकारी भी यह मान चुके हैं कि जो बात के.डी. में है, वह कहीं नहीं है।

कोरोना संक्रमितों पर दिन-रात नजर रखने वालों में मेडिसिन विशेषज्ञ डा. सौरभ सिंघल, निश्चेतना विशेषज्ञ डा. ए.पी. भल्ला, डा. प्रदीप कुमार पाढ़ी, डा. अम्बरीश, डा. गगनदीप कौर, डा. शुभम द्विवेदी, डा. पूर्वा सूर, डा. वंदना पंडित, डा. अमित कुमार, नर्सेज तथा पैरामेडिकल स्टाफ शामिल है। शनिवार को स्वस्थ होकर अपने-अपने घर लौटे लोगों ने डा. रामकिशोर अग्रवाल का आभार मानते हुए कहा कि उन्होंने ब्रज को के.डी. हास्पिटल के रूप में जो स्वास्थ्य सुविधा दी है, उसकी जितनी तारीफ की जाए कम है।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल, डीन डा. रामकुमार अशोका, चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेन्द्र कुमार, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी अरुण अग्रवाल लगातार कोरोना संक्रमण के खिलाफ तन-मन से चिकित्सा सेवा करने वाले डाक्टर्स, नर्सेज तथा अन्य कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए उनका हौसला बढ़ा रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।