आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा महिलाओं को दी गई की जानकारी, कोविड-19 से किस प्रकार बचा जाए ।
July 18th, 2020 | Post by :- | 24 Views

नारायणगढ़/शहजादपुर अम्बाला: (अशोक शर्मा)
छात्राओं को प्रोत्साहित करने के लिए ग्रामीण किशोरी बालिका पुरस्कार महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से दिया जाता हैं। इस योजना में जो बालिका हरियाणा बोर्ड की मैट्रिक व 12वीं कक्षा में ब्लॉक स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करती है उन्हें पुरस्कार राशि दी जाती हैं। यह जानकारी आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा महिलाओं को दी गई। उल्लेखनीय हैं कि इन दिनों कोविड-19 के बारे में महिलाओं को जागरूक करने के लिए एसडीएम अदिति के निर्देशानुसार एक विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा हैं। जिसके अन्तर्गत आंगनवाड़ी वर्कर डोर टू डोर जाकर महिलाओं को अपने विभाग की विभिन्न स्कीमों की जानकारी देने के साथ-साथ उन्हें कोविड-19 से किस प्रकार बचा जाए और क्या-क्या सावधानियां बरती जाए, इस बारे भी बताया जा रहा हैं।
सीडीपीओ सीमा ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जो बालिकाएं मैट्रिक कक्षा में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आती है उन्हें क्रमश: आठ हजार, छ: हजार तथा चार हजार रूपए की राशि दी जाती हैं। इसी प्रकार 12वीं कक्षा में जो बालिकाएं प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आती है उन्हें क्रमश: बारह हजार, दस हजार व आठ हजार रूपए की राशि पुरस्कार के तौर पर दी जाती हैं। उन्होनें कहा कि इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण परिवेश की किशोरियों का मनोबल बढ़ाना तथा उन्हें प्रोत्साहित करना हैं। जिससे किशोरियों पढ़ाई में आगे आए और अपना भविष्य उज्जवल करें। उन्होनें कहा कि शिक्षा सफलता का आधार हैं। इस बारे में आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा किशोरियों को समय-समय पर बताया जाता हैं।
इस दौरान आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा कोविड-19 के बारे में जागरूक भी किया गया। महिलाओं को बताया गया कि वे जब भी किसी कार्य से घर से बाहर निकले तो चेहरे पर मास्क लगाये और अपने परिजनों को भी इस बारें में जागरूक करें। बार-बार हाथों को साबुन व पानी के साथ बीस सैकण्ड तक सही प्रकार से धोएं। भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचे। सोशल डिस्टैंसिंग के नियमों का पालन करें। एक-दूसरे से दो गज की दूरी बनाकर रखें। गर्भवती महिलाओं, 10 साल से कम आयु के बच्चों तथा बुजुर्ग जिनकी आयु 65 वर्ष से अधिक है उन्हें घर से बाहर न जाने दें तथा यह प्रयास करें कि बाजार से घर का सामान लेने एक ही व्यस्क व्यक्ति परिवार का जाए। अनावश्यक घर से बाहर न जाए। गांव बनौदी, शहजादपुर, गणेशपुर, बोड़ा खेड़ा तथा गोबिन्दपुर आदि में आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा महिलाओं को जागरूक किया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।