ग्रामीण सफाई कर्मचारीयों की 15वें भी जारी, हड़ताल से ग्रामीण हुये नरकीय जीवन जीने को मजबूर |
September 9th, 2019 | Post by :- | 69 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :-  प्रदेश स्तर पर चली हुई ग्रामीण सफाई कर्मचारियों की 15वें दिन जारी हडताल से अब ग्रामीणों में बीमारी फैलने का डर सताने लगा हैं|

ग्रामीण सफाईकर्मियों की राज्य स्तर की यूनियन के आह्वाहन पर ब्लॉक हसनपुर की ग्रामीण सफ़ाई कर्मचारियों की प्रधान जितेन्द्र चौहान की अगुवाई में हडताल जारी हैं इस हडताल को आज 15वां दिन हैं | ब्लॉक के गाँवों में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई हैं | अब ग्रामीणों को बच्चों व बुजर्गों के स्वास्थ की चिंता सताने लगी हैं | सफ़ाई नही होने से गाँवों में जगह-जगह कुढ़े के ढेर लग गए हैं | मच्छरों के आतंक से ग्रामीण बीमार ह होने लग गए हैं |

ग्रामीणों के सरकार से माँग हैं जल्द से जल्द इस मामले को निबटाया जाए ताकि उन्हें भी स्वच्छ माहौल में जीने का सुख मिल पाए |

दूसरी तरफ ब्लॉक हसनपुर के प्रधान ने कहा हैं की जब तक हमारी मांगे नही मानी जाती प्रदेश स्तर के यूनियन के आदेशानुसार हडताल जारी रहेगी |

उपप्रधान चन्द्रवीर ने कहा जब तक सरकार उनकी सभी माँगे जैसे की सभी ग्रामीण सफाईकर्मियों को पक्का करना, 18 हजार रुपये वेतनमान दिया जाए, ईएसआई व पीएफ काटा जाना, समान काम समान वेतन दिया जाना, गेस्ट टीचरों की तरह सहूलियत देना व 400 की आबादी पर एक कर्मचारी सुनिचित करना नही हो जाता हमें हडताल जारी रखने के आदेश हैं|

दिनाकं 7 व 8 सितम्बर को ग्रामीण सफाई  कर्मचारियों यूनियन के प्रदेश स्तर के नेताओं ने मुख्यमन्त्री निवास का घेराव किया | अब यूनियन के पदाधिकारियों को माँगों को रखने का 11सितम्बर 2019 को 11:30 का समय दिया गया हैं| जिसमें प्रदेश स्तर के नेता, नगर निगम के प्रदेश स्तर के नेता नरेश शास्त्री, सीटू के नेता सतबीर कामरेड, ग्रामीण सफाईकर्मियों के प्रदेश स्तर के नेता देवीराम, मनोज, प्रदेश महासचिव विनोद, सुभाष लांबा आदि करीब 10 नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया गया हैं| इसलिए हसनपुर ब्लॉक प्रधान जितेन्द्र चौहान की अध्यक्षता में हडताल अब 11 सितम्बर 2019 तक जारी रहेगी|

इस मौके पर प्रधान जितेन्द्र चौहान के साथ नानक चन्द, धर्मवीर, सचिव  नरेश, रामेश्वरी, बाला, रामवती, मामचन्द, राधेश्याम, रत्न अजीत, बाला, मुकेश राहुल, खजान आदि ग्रामीण सफाई कर्मचारी काफी तादाद में मौजूद रहें |

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।