कारोबारी की पत्नी पर हमला कर लूट की नियत से घर में घुसा आरोपी काबू
July 15th, 2020 | Post by :- | 31 Views

यमुनानगर,(सुरेश अंसल)। जिला पुलिस अधीक्षक कमलदीप गोयल ने आज जानकारी देते हुए बताया कि गत 26जून को अर्जुन नगर चौकी में एक टेलीफोन आया कि सेक्टर -17 पार्ट 2 हुड्डा जगाधरी में ना मालूम नौजवान लड़के ने घर में घुसकर एक औरत को तेजधार हथियार से चोटें मारी हैं। इस सूचना पर पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए घटनास्थल पर पहुंचे तो घर के अंदर खून बिखरा हुआ था। निशा रानी पत्नी अंकुश वासी हुडा जगाधरी ने बयान दर्ज कराए की कि वह घर पर अकेली थी तो मेन गेट की घंटी बजने पर उसने छोटा गेट खोला तो एक नौजवान लड़का जिसने मुंह पर रुमाल बंधा हुआ था ने प्लास्टिक की बोतल देकर मेरे को पानी के लिए कहा तो मैंने अंदर से पानी लाकर दे दिया। थोड़ी देर बाद फिर वही लड़का मेन गेट पर आया दोबारा फिर पानी मांगने लगा । मैंने फिर पानी दे दिया । कुछ देर बाद वही नौजवान लड़का घर के पिछले दरवाजे से अंदर गुस्सा और जिसके एक हाथ में सरिया काटने वाली आरी ब्लेड थ। जिसने एकदम मेरे सिर पर वार किया जिसको मैंने दोनों हाथों से रोक लिया । उसने बार-बार वार किया तो मैं नीचे गिर गई| उसने आरी ब्लेड से मेरे को जान से मारने की कोशिश की । मेरे शोर मचाने पर लड़के ने दरवाजे की कुंडी अंदर से बंद कर दी फिर दोबारा मेरे को ब्लेड से मारने के लिए मुझ पर कई वार किए।  मेरे पड़ोसी ने मेरे पति को फोन किया मेरे पति ने आकर मुझे घायल अवस्था में गाबा हॉस्पिटल में दाखिल किया इस शिकायत पर थाना शहर जगाधरी में आईपीसी की धारा 324,451,307 व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी।
इस मुकदमा की जांच एंटी नारकोटिक्स सेल को दे दी गई एंटी नारकोटिक्स सेल के इंचार्ज निरीक्षक महावीर ने आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम का गठन किया। दिनांक 13 जुलाई पुलिस टीम ने गुप्त सूचना पर आरोपी धर्मेंद्र कुमार उर्फ इंद्र पुत्र महाराम वासी नवीन नगर थाना सदर सहारनपुर उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
पूछताछ पर आरोपी धर्मेंद्र कुमार उर्फ इंद्र पुत्र महाराम ने बताया कि वह विजय कालड़ा वासी मॉडल कॉलोनी यमुनानगर की कंस्ट्रक्शन कंपनी में 5 साल से सुपरवाइजर का काम करता था लेकिन लॉकडाउन के कारण काम नहीं मिल। | चार-पांच महीने पहले इसी ठेकेदार के माध्यम से इसी मकान ।में कंस्ट्रक्शन का काम किया था। मेरे को मकान मालिक अंकुश की हैसियत वा उसके घर के अंदर का अच्छी तरह से ज्ञान था। उसकी पत्नी घर में अकेली रहती है जिससे मैंने घर को लूटने की सोची| मैं अपने साथ लूट के समय चाकू  ले जाना चाहता था की अगर लूट के समय विरोध हो तो चाकू से हमला करके नकदी व गहने लूट सकूं।  जो इसके लिए मैंने दिनांक 26 तारीख को अपने घर रखा सब्जी काटने वाला बड़ा चाकु लिया । घर में कैमरे लगे होने के कारण मैंने अपने मुंह पर कपड़ा बांध लिया। मैं खाली बोतल लेकर अंकुश के घर पानी लेने के बहाने गया। मेरे बेल बजाने पर एक औरत आई जिसने मुझे पानी लाकर दे दिया । मैं दोबारा फिर पानी लेने के लिए गया उसने मुझे फिर पानी दे दिया । लेकिन गली में आवागमन होने के कारण मैं लूट नहीं सका। फिर मैं पास में निर्माणाधीन मकान के पीछे से अंकुश के घर के पीछे की दीवार फांद कर मकान के अंदर गया। अंदर एक औरत काम कर रही थी जिसे मैंने घायल करके लूट के इरादे से चाकू निकालकर वार किया लेकिन औरत ने पहले हाथ आगे कर दिए जिसे चाकू उसके हाथों पर लगा मैंने उस पर चाकू से कई वार किए चाकू लगने से महिला नीचे गिर गई मैंने उसे बेहोश समझ कर मेन दरवाजा बंद करने के लिए गया तोऔरत दूसरे कमरे में चली गई। मैं पकड़े जाने के डर से बिना समान लूटे मौका से भाग गया। आरोपी धर्मेंद्र कुमार उर्फ इंद्र पुत्र महाराम को आज अदालत में पेश किया गया जो अदालत ने आरोपी को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।