छेड़छाड़ करने के मामले में नर्सों ने कर डाली डॉक्टर की धुनाई।
July 14th, 2020 | Post by :- | 109 Views

पंचकूला।(मनीषा)  सेक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल में एक डॉक्टर द्वारा नर्स से छेड़छाड़ करने के मामले में मंगलवार को नर्सों ने डॉक्टर की धुनाई कर डाली। नागरिक अस्पताल में जमकर हुआ हंगामा। नर्सों ने लामबंद होकर आरोपी डॉक्टर को अस्पताल से बाहर निकालने व उसके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए की जमकर नारेबाजी।
मौके पर महिला थाना पुलिस की टीम पहुंची।
मौके पर महिला थाना पुलिस की टीम पहुंची। इस दौरान नर्सों एवं अन्य स्टाफ ने पुलिस से भी धक्का मुक्की की।
महिला आयोग ने भी लिया मामले में संज्ञान।
मामले में अब हरियाणा राज्य महिला आयोग ने भी लिया संज्ञान। महिला आयोग की उपाध्यक्ष प्रीति भारद्वाज ने स्वास्थ्य विभाग की पीएमओ और सीएमओ को आयोग में पेश होने के समन जारी किए हैं। जानकारी के अनुसार रात को कोरोना के मरीजों के लिए बनाए आइसोलेशन वार्ड में स्टाफ नर्स की ड्यूटी थी। कोरोना के मरीजों के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में ही ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स ने राउंड पर आए मनोरोग डॉक्टर पर छेड़छाड़ के आरोप लगाए। आरोप है कि स्टाफ नर्स के साथ जब जबरन छेड़छाड़ हो रही थी तो उस वार्ड में कोई भी मरीज नहीं था। इसके अलावा स्टाफ नर्स ने डॉक्टर पर शराब के नशे में धुत होने का भी आरोप लगाया है। सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो ये है कि जब स्टाफ नर्स ने तुरंत इसकी सूचना अस्पताल प्रबंधक को दी तो मौके पर पीएमओ और आरएमओ पहुंचे थे। जिनके सामने ही डॉक्टर आइसोलेशन वार्ड से लिफ्ट के जरिये फरार हो गया। अधिकारियों की ओर से डॉक्टर को रोका भी गया था, लेकिन डॉक्टर ने अपने टिफिन को कार में रखने का बहाना लगाया और वहां से भाग गया। वहीं, अब स्टाफ नर्स ने डॉक्टर के खिलाफ पीएमओ को भी लिखित कंप्लेंट दी है, जिसके बाद डॉक्टरों की जांच कमेटी बनाई गई है। अब इस पूरे मामले में डॉक्यूमेंट्स तैयार कर रहे हैं। हैरानी यह है कि जब पीएमओ मौके पर पहुंची तो डॉक्टर आइसोलेशन वार्ड में ही था। स्टाफ नर्स ने डॉक्टर पर शराब के नशे में छेड़छाड़ के आरोप लगाए है। इसके बाद डॉक्टर अधिकारियों के सामने ही ड्यूटी से गायब हो गया। एक दिन बाद भी डॉक्टर का पता नहीं चल पाता है और न ही स्टाफ नर्स के आरोप के बाद डॉक्टर का मेडिकल करवाया जाता है।
सूत्रो से मिली जानकारी के अनूसार अब अस्पताल प्रबंधन के अलावा और भी कई सीनियर अधिकारी इस मामले को उजागर करने से रोक रहे हैं। स्टाफ नर्स पर भी इस मामले में कंप्लेंट वापस लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। बेशक दिखावे के लिए जांच कमेटी बना दी गई हो, लेकिन अंदर खाते डॉक्टरों पर भी दवाब बनाया जा रहा है कि इस मामले को निपटाया जाए। अभी तक पुलिस को भी इस मामले में कोई शिकायत नहीं दी गई। पंचकूला अस्पताल की सीएमओ डॉ. जसजीत कौर ने बताया कि जनरल अस्पताल में जो मामला आया है, इसमें हम जांच करवा रहे हैं। स्टाफ नर्स ने डॉक्टर पर एलीगेशन लगाए है और उसके बाद इस पर जांच कमेटी बैठा दी गई है। इस मामले में स्टाफ नर्स ने कंप्लेंट दी है। जिस पर अब पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।